आंगनवाड़ी कर्मचारियों ने 16 सूत्री मांगों को लेकर समाहरणालय परिसर में किया धरना प्रदर्शन 

मधुबनी: समाहरणालय परिसर में आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन (एटक) के आह्वान पर जिले के विभिन्न परियोजनाओं से आयी हजारों सेविका और सहायिकाओं ने सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने और सम्मानजनक मानदेय देने समेत 16 सूत्री मांगों को लेकर धरना दिया। जिला अध्यक्षा रामपरी देवी के नेतृत्व में आंगनबाड़ी कर्मियों ने जुलुश के साथ रैली निकालकर राज्य और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मधुबनी के कई चौक से होते हुए रैली समाहरणालय पहुंची, जहां सभा मे तब्दील हो गयी। बताते चले कि समाहरणालय के समक्ष धरना भी दिया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष रामपरी देवी ने की। सभा को संबोधित करते हुए भाकपा नेता सह जिला मुखिया संघ के अध्यक्ष कृपानंद झा आज़ाद ने कहा राज्य और केंद्र सरकार आंगनवाड़ी के साथ नाइंसाफी कर रही है। उन्होंने कहा राज्य सरकार महिलाओं की हिमायती बनने का मात्र दिखावा करती है, हकीकत आपके सामने है। वही केंद्र सरकार के समाज कल्याण विकास मंत्री मेनका गांधी के द्वारा पूर्व में सम्मानजनक मानदेय देने की घोषणा को बरगलाने की बात कहते हुए कहा कि वे सबसे बड़ी झूठ परोसने का काम की है।

उन्होंने तो इतना तक कह डाला कि आपने तो लबड़े बहुत सुने होंगे पर मेनका गांधी और मंजू वर्मा के रुप मे पहली बार लबड़ी देखने का मौका मिला है। सेविकाओं की मांग जायज है। हक की इस लड़ाई में हरसंभव सहयोग देने का आश्वासन भी दिलाया। वहीं धरना को जिला अध्यक्षा रामपरी देवी, जिला महासचिव शबनम झा, जिला संरक्षक कमल नारायण, मीडिया प्रभारी रमेश झा, आलोक नाथ झा, मधवापुर इकाई के संरक्षक उपेंद्र प्रसाद सिंह, मधवापुर प्रखंड अध्यक्ष रीता देवी, लखनौर इकाई की काजल गुप्ता समेत अन्य सेविकाओं ने भी संबोधित किया। मौके पर बेनीपट्टी,  पंडौल, मधेपुर, लखनौर, फुलपरास, जयनगर और झंझारपुर समेत अन्य प्रखंडों की हजारों सेविका और सहायिकाएं मौजूद थीं।

पढ़े :   हिंदी में नासिरा शर्मा, मैथिली में श्याम दरिहरे को साहित्य अकादमी पुरस्कार

रिपोर्ट: चंदन कुमार 

Student/Social Activist/Blogger/News Writer

Chandan Kumar

Student/Social Activist/Blogger/News Writer

Leave a Reply

error: Content is protected !!