शव को जिंदा करने के लिये घंटों अस्पताल में परिजन करते रहे कोशिश

महेंद्र प्रसाद, सहरसा
टेंट में काम करने वाले एक मजदूर को करंट लग गया। करंट लगने से परिजन आनन फानन में अनुमंडलीय अस्पताल सिमरी बख्तियारपूर लाया गया, जहा डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हालांकि मृतक के परिजन ये बात कतई मानने को तैयार नही था कि उनकी मौत हो गयी है।

इसके बाद परिजन अस्पताल में ही शव का मालिश शुरू कर दिया। घंटो परिजन अस्पताल के बेड पर मृत को जिंदा करने के लिए अपने स्तर से प्रयास करते रहे, लेकिन अनन्तः उन्हें कामयाबी नही मिली।

मृत मजदूर सनोज कुमार शर्मा 25 वर्ष पिता बनारसी शर्मा बनमा इटहरी प्रखंड के घोरडोर का रहने वाला था। नगर पंचायत के बाजार स्थित आनंदी टेंट हाउस में बतौर मजदूरी करता था। बाजार में ही एक शादी में टेंट लगा था, जहा बिजली का काम कर रहा था। लेकिन एकाएक नंगी तार की चपेट में आ गया, जहा उनकी मौत हो गयी।

मृतक के पिता बनारसी शर्मा अस्पताल परिसर में बेटे की लाश को देखकर बार बार बेहोश हो रहा था। हालांकि टेंट मालिक की तरफ से मामले की लीपापोती में लगा था।

20 मई को हुई थी शादी- मृतक युवक सनोज कुमार शर्मा की शादी 20 मई को हुआ था। शादी के एक माह भी नही बिता की उनकी मौत हो गयी। परिजन का अस्पताल में रो रोकर बुरा हाल था। पिता बार बार बेहोस हो जाता था। जिस बाप को बुढ़ापे में बेटे की कंधा की जरूरत था, किस्मत ने ऐसा किया कि अब खुद बाप ही बेटे को कंधा देगा। हालाकि घटना की जानकारी के बाद पुलिस भी अस्पताल पहुच मामले की छानबीन शुरू कर दिया।

पढ़े :   CBSE डेट शीट 2017: दसवीं और बारहवीं बोर्ड की परीक्षाएं नौ मार्च से शुरु होंगी, यूं करें डाउनलोड

Leave a Reply

error: Content is protected !!