बिहार की इस बेटी ने लोको पायलट ने रूप में की करियर की शुरूआत

8 मार्च अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर दुनिया भर में महिला दिवस को लेकर जगह-जगह पर कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। इसी कड़ी में बिहार की एक बेटी के लिये यह अवसर एक मायने में खास रहा। बिहार के नवादा की रहने वाली टिन्की कुमारी ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के विशेष मौके पर अपने करियर की यादगार शुरूआत की। महिला लोको पायलट टिन्की उस ट्रेन को लेकर रवाना हुई जो इस से पहले आम तौर पर पुरुष लोको पायलट ही चलाया करते थे।

बचपन से लोको पायलट बनने की इच्छा
टिन्नी कुमारी के मुताबिक उन्होंने बचपन में महिलाओं के बारे में सुना था और देखा भी था कि वो ट्रेन चला रही हैं। तभी से मन में लोको पायलट बनने की इच्छा जागी और आखिरकार वह सपना आज पूरा हुआ।

सेल्फी के लिए होड़
पटना से मुगलसराय को जाने वाली ईएमयू पर जब टिन्की कुमारी सवार हुई तो उन्हें देखने के लिए लोगों का हुजुम सा उमड़ पड़ा। मौके पर मौजूद महिलाएं और लोग उनके साथ तस्वीर खींचवाने के लिये आतुर दिखे। देश में वैसे तो ट्रेन चलाने वाली कई महिला ड्राइवर हैं लेकिन महिला दिवस के दिन अपने करियर की शुरूआत करने वाली टिन्की कुमारी शायद पहली ऐसी असिस्टेंट महिला लोको पायलय बन गयी हैं।

लोगों में दिखी उत्सुकता
पटना से बक्सर तक के सफर में टिन्की कुमारी जिस स्टेशन पर उतरी लोग उत्सुकतावश उन्हें देखने पायलट केबिन तक आये। टिन्नी को देखकर महिलाओ के अंदर भी काफी जोश भर गया और कई महिला यात्रियों ने भी अपनी बेटियों को इस क्षेत्र में करियर बनाने की बात कही।

Leave a Reply