कुलभूषण जाधव केस में पाक को करारा तमाचा, ICJ ने अंतिम फैसला आने तक फांसी पर लगाई रोक

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस से भारत को बड़ी जीत हासिल हुई है। भारत की दलीलों से सहमत होते हुए नीदरलैंड के द हेग में इंटरनेशनल कोर्ट अॉफ जस्टिस ने पाकिस्तान को झटका देते हुए कहा कि अंतिम फैसले तक पाकिस्तान कुलभूषण जाधव को फांसी नहीं दे सकता है।

कोर्ट का फ़ैसला

    • वियना संधि के तहत कांसुलर एक्सेस मिलना चाहिये।
    • पाक का जासूस का दावा साबित नहीं होता।
    • जाधव की गिरफ़्तारी एक विवादित मामला।
    • ​भारत ने वियना समझोते के तहत अपील की।
    • कोर्ट को मामले की सुनवाई करने का हक़।

कोर्ट ने पाकिस्तान को हिदायत दी है कि वह फिलहाल इस मामले में कोई कार्रवाई न करे। कोर्ट ने कहा कि आदेश नहीं मानने पर पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगेगा।

कोर्ट के इस फैसले के बाद अब पाकिस्तान में भारतीय अधिकारी जेल में जाधव से मुलाकात कर पाएंगे।

क्या था मामला
46 वर्षीय पूर्व नौसेना अधिकारी जाधव को 3 मार्च 2016 को पाकिस्तान ने ईरान से अगवा किया था। पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने उन्हें जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों के आरोपों में मौत की सजा सुनाई। जाधव के लिए राजनयिक पहुंच की मांग कर रहे भारत ने 16 बार दरख्वास्त ठुकराए जाने के बाद ICJ का रुख किया था।

भारत ने जाधव मामले को 8 मई को इंटरनेशनल कोर्ट में रखा। नीदरलैंड्स के हेग में स्थित आईसीजे में मामले की सुनवाई बीते सोमवार को हुई थी। इसमें भारत और पाकिस्तान के वकीलों ने अपना पक्ष रखा था। भारत ने आरोप लगाया कि पाकिस्तान वियना समझौते का उल्लंघन कर रहा है और जाधव को सबूतों के बिना दोषी करार दिया।

पढ़े :   सचिन तेंदुलकर के सबसे बड़े फैन मुजफ्फरपुर के सुधीर गौतम बनेंगे बिहार के ब्रांड एंबेसडर

Live Bihar News

Our Goal is to Bring Important News, Photos and Information to the Public By Using Social Media, News Paper and E-News.

Leave a Reply

error: Content is protected !!