बिहार के विकास में सहयोग और निवेश करना चाहता है जापान

पटना: गुरुवार को राजभवन में महामहिम राज्यपाल रामनाथ कोविंद से कॉन्सुल जेनरल ऑफ जापान इन कोलकाता माशायूकी तागा ने मुलाकात की। माशायूकी तागा ने कहा कि भारत और जापान के बीच हमेशा सौहार्दपूर्ण संबंध रहे हैं और दोनों देशों की जनता के बीच भी बराबर सांस्कृतिक विचारों के आदान-प्रदान होते रहते हैं। जापान भारत के पूर्वी राज्यों खासकर बिहार, पश्चिम बंगाल और ओड़िशा के आर्थिक विकास में सहयोग को उत्सुक है।

उन्होंने कहा कि जापान इन राज्यों में आर्थिक निवेश के लिए इच्छुक है और इस दिशा में सार्थक प्रयास किये जा रहे हैं। बिहार के बोधगया, राजगीर, नालंदा, पावापुरी पर्यटकीय स्थलों में जापानी पर्यटकों की गहरी अभिरुचि है। राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने भारत के पूर्वी राज्यों में जापान की आर्थिक निवेश की उत्सुकता की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि बिहार के पर्यटकीय विकास में जापान सहयोग कर सकता है। राज्यपाल ने कॉन्सुल जनरल को बताया कि भगवान बुद्ध से जुड़े विभिन्न धार्मिक स्थल बिहार में मौजूद हैं, जिनके विकास के लिए ‘बौद्ध सर्किट’ की स्थापना की गयी है।

इन सभी पर्यटन स्थलों के सम्यक विकास के लिए चरणबद्ध प्रयास किये जा रहे हैं। राज्यपाल ने राजगीर के विश्व शांति स्तूप का उल्लेख करते हुए कहा कि फ्यूजी गुरुजी जैसे जापानी धार्मिक महात्मा के नेतृत्व में बना यह मंदिर बिहार का गौरव है। राज्यपाल ने आशा व्यक्त की कि जापान बिहार के विकास में अपेक्षा के अनुरूप सहयोग करेगा।

पढ़े :   बिहार के पूर्व राज्यपाल रामनाथ कोविंद बनेंगे देश के 14वें राष्ट्रपति, ...जानिए

Live Bihar News

Our Goal is to Bring Important News, Photos and Information to the Public By Using Social Media, News Paper and E-News.

Leave a Reply

error: Content is protected !!