रेलवे ने जारी की ट्रेन में परोसे जाने वाले खाने की मेन्यू व कीमत, …जानिए

संसद में सीएजी की ओर से रेलवे के कैटरिंग सिस्टम पर सवाल खड़े किए गए कि रेल में परोसा जाने वाला खाना इंसान के खाने लायक नहीं होता। इसके बाद रेलवे की ओर से खाने का मेन्यू व कीमत जारी किया गया है।

पढ़े :   सावधान! रिपोर्ट में बड़ा खुलासा: इंसानों के खाने के योग्‍य नहीं है यहां का खाना, ...जानिए

इतना ही नहीं, यात्रियों से घटिया खाना मिलने की शिकायत दर्ज कराने का भी अनुरोध किया गया है। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर कैटरिंग की शिकायत मैसेज के जरिये कराने के लिए एक मोबाइल नंबर भी जारी किया गया है। रेलमंत्री के ट्विटर पर भी यात्रियों से घटिया भोजन की शिकायत करने को कहा गया है।

आमतौर पर पैंट्रीकार की ओर से मिलने वाले भोजन की क्वालिटी तो घटिया रहती ही है मात्रा भी काफी कम रहती है। जहां उन्हें 150 ग्राम चावल व 150 ग्राम दाल देनी है वहां 80 से 90 ग्राम चावल व इतनी ही दाल में काम चलाया जा रहा है।

चाय व कॉफी की मात्रा भी काफी कम रहने लगी है। रेलवे ने स्टेशन के प्लेटफॉर्म व रनिंग ट्रेन के लिए अलग-अलग कीमत तय कर दी है। इसके घटिया कंपनी का मिनरल वाटर बेचे जाने पर भी कठोर कार्रवाई का निर्देश जारी किया गया है।

रेलवे की ओर से जारी मेन्यू व कीमत
चाय स्टैंडर्ड 170 एमएल– 5 रु
टी बैग 150 एमएल – 7 रु

कॉफी 150 एमएल – 7रु

रेल नीर 1 लीटर – 15 रु
रेलनीर 500एमएल – 10 रु

जनता भोजन – 15 रु – 20 रु
पूरी-7 पीस-175 ग्राम
सब्जी आलू 150 ग्राम

शाकाहारी नाश्ता – 25 रु – 30 रु
ब्रेड 2 पीस, बटर
वेज कटलेट 2 पीस 100 ग्राम या
इडली 4 पीस या उड़द बड़ा- 4 पीस
चटनी या उपमा-100 ग्राम अथवा उड़द बड़ा 4 पीस व पोंगल 100 ग्राम

मांसाहारी नाश्ता – 30 रु- 35 रु
आमलेट 2 अंडे का व स्लाइस 2 पीस बटर के साथ, टोमैटो केचप

शाकाहारी भोजन – 45 रु.- 50 रु
राइस पुलाव या जीरा राइस या प्लेन राइस-150 ग्राम
पराठा-2 पीस या चपाती 4 पीस
दाल-150 ग्राम
मिक्स सब्जी-100 ग्राम
दही-100 ग्राम या मिठाई-40 ग्राम
पैक्ड मिनरल वाटर-250 एमएल

मांसाहारी भोजन – 50 रु- 55 रु.
राइस पुलाव या जीरा राइस या प्लेन राइस-150 ग्राम
पराठा-2 पीस या चपाती 4 पीस
दाल-150 ग्राम
2 अंडा का करी-200 ग्राम
दही-100 ग्राम या मिठाई-40 ग्राम
पैक्ड मिनरल वाटर-250 एमएल

Live Bihar News

Our Goal is to Bring Important News, Photos and Information to the Public By Using Social Media, News Paper and E-News.

Leave a Reply

error: Content is protected !!