बिहार का यह शहर विदेश के बड़े शहरों को भी छोड़ देगा पीछे, …जानिए

अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक स्थल राजगीर को एक नई ऊंचाई मिलने वाली है। यह ऊंचाई राज्य सरकार द्वारा शुरू किए जाने वाले अंतराष्ट्रीय स्तर की बड़ी बड़ी परियोजनाओं से मिलेगी। जिलाधिकारी डॉक्टर त्यागराजन एस एम के नेतृत्व में इन महत्वपूर्ण परियोजनाओं के लिए जमीन के अधिग्रहण का कार्य पूरा हो गया है।

कई मामलों में जमीनों को संबंधित विभागों को हस्तगत भी करा दिया गया है। अंतर्राष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय के समीप ठेरा, नेकपुर एवं पिलखी गांव के आसपास इन सभी बड़ी बड़ी परियोजनाओं को स्थापित किया जा रहा है। इनके इली जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई पूरी हो चुकी है। इन परियोजनाओं में फिल्म सिटी, इंटरनेशनल स्पोर्ट्स एकेडमी, अंतर्राष्ट्रीय स्तर का कनफ्लिक्ट रिजोलुशन सेंटर सहित कई अन्य बड़ी परियोजना शामिल हैं।

राजगीर के ठेरा गांव के पास 20 एकड़ में फिल्म सिटी के निर्माण के लिए जमीन के अधिग्रहण संबंधित सभी तरह की कार्यवाही पूरी हो गई है। यहीं पर 90 एकड़ में अंतरराष्ट्रीय स्पोर्ट्स एकेडमी भी बनेगा। यह दोनों बड़ी परियोजनाएं कला संस्कृति एवं युवा विभाग से संबंधित है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर का आईटी सिटी यहीं पर स्थापित होने जा रहा है जिसके लिए प्रथम पेज में 30 एकड़ एवं द्वितीय फेज में 63 एकड़ कुल 93 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर सूचना एवं प्रावैधिकी विभाग को दिया जा चुका है। विभाग द्वारा इस पर भी अग्रतर कार्रवाई की जा रही है।

भाविष्य में शुरू होने वाली अन्य बड़ी-बड़ी परियोजनाओं के लिए आधारभूत संरचना विकास प्राधिकार को लैंड बैंक के रूप में 19 एकड़ जमीन उपलब्ध कराया गया है जिसमें आवश्यकतानुसार बड़ी बड़ी परियोजनाओं को स्थापित किया जाएगा। लैंड बैंक उपलब्ध रहने से उस समय जमीन के खोजने में लगने वाला समय बर्बाद नहीं होगा और परियोजनाएं जल्द शुरु की जा सकेंगी। यहां पर एक बहुत ही महत्वपूर्ण परियोजना शुरू की जाने वाली है और यह है नेकपुर में 22 एकड़ में बनने वाला अन्तर्राष्ट्रीयस्तर का कनफ्लिक्ट रिजोल्यूशन सेंटर। इसके लिए भवन निर्माण विभाग को जमीन हस्तगत करा दिया गया है। यह केंद्र नालंदा जिला के लिए अद्भुत एवम् जिला का गौरव होगा।

नालंदा विश्वविद्यालय के एंडोमेंट प्लान के लिए 70 एकड़ जमीन शिक्षा विभाग को उपलब्ध कराया गया है। तथा अन्य विभिन्न परियोजनाओं के लिए 20 एकड़ जमीन को सुरक्षित रखा गया है। इन बड़ी बड़ी परियोजनाओं के इस क्षेत्र में 22 एकड़ सड़क के लिए तथा 5 एकड़ जमीन ड्रेनेज सिस्टम के लिए भी रखा गया है।

पढ़े :   बिहार विधानसभा के विशेष सत्र में GST बिल पास

नालंदा खुला विश्वविद्यालय के लिए भी जमीन मुक्त विश्वविद्यालय के कुलसचिव को हस्तगत करा दिया गया है, साथ ही राजगीर में बनने वाले आयुर्वेदिक रिसर्च सेंटर के लिए भी जमीन उपलब्ध कराने की कार्यवाही जारी है। इन बड़ी-बड़ी परियोजनाओं के शुरू होने से इन इलाकों की तस्वीर बदल जाएगी और नालंदा जिला अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और प्रसिद्ध होकर रहेगा।

मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की सोंच एवम परिकल्पना पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय स्तर के इन प्रोजेक्ट के स्थापित होने से राज्य में आधारभूत संरचना के विकास को एक नया आयाम मिलेगा। जिलाधिकारी ने सभी संबंधित विभागों को इन परियोजनाओं में गति लाने के लिए विशेष रुचि के साथ कार्य करने को कहा है उन्होंने कहा है कि इन परियोजनाओं के पूरा होने से इस इलाके के लोगों की आर्थिक स्थिति भी समृद्ध होगी साथ ही पर्यटन को भी एक नई ऊंचाई मिलेगी।

राजगीर के आसपास में बन रहे इन संस्थानों से न सिर्फ राजगीर का विकास होगा बल्कि बिहार के विकास में अहम योगदान होगा। बिहार में एक ही जगह पर, एक ही शहर के नजदीक में कई बड़े प्रोजेक्ट्स स्टार्ट होने से न सिर्फ राज्य और इस शहर का विकास होगा बल्कि विदेश के कई बड़े शहरों को भी पीछे छोड़ देगा जहाँ एक साथ इतनी साड़ी सुविधायें एक जगह पर उपलब्ध हो।

पढ़े :   बिहार में शराबबंदी है लागू, लेकिन यहाँ मिलेगी "बीयर"...

Live Bihar News

Our Goal is to Bring Important News, Photos and Information to the Public By Using Social Media, News Paper and E-News.

Leave a Reply

error: Content is protected !!