हिंदी में नासिरा शर्मा, मैथिली में श्याम दरिहरे को साहित्य अकादमी पुरस्कार

साहित्य अकादमी ने बुधवार को वर्ष 2016 के अपने वार्षिक साहित्य अकादमी पुरस्कारों की घोषणा कर दी। हिंदी के लिए नासिरा शर्मा (उपन्यास पारिजात), जबकि मैथिली के लिए श्याम दरिहरे को उनकी कथा संग्रह ‘बड़की काकी एट हाॅटमेल डाॅट काम’ पर साहित्य पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है। इस वर्ष साहित्य अकादमी का प्रतिष्ठित पुरस्कार 24 भाषाओं के रचनाकारों को देने का एलान किया गया। साहित्य अकादमी के सचिव के श्रीनिवास राव ने बताया कि यह पुरस्कार अगले साल 22 फरवरी को दिल्ली में आयोजित एक समारोह में दिये जायेंगे।

बिहार पुलिस सेवा के अधिकारी रहे श्याम दरिहरे मधुबनी जिले के बेनीपट्टी अनुमंडल के बरहा गांव के मूल निवासी हैं। हजारीबाग से डिविजनल कमांडेंट के पद से रिटायर हुए दरिहरे श्यामचंद्र झा के नाम से जाने जाते हैं। बड़की काकी एट हाॅटमेल डाॅट मेल 2013 में प्रकाशित हुआ है। इसमें 18 कहानियां हैं।

यह संग्रह हो चुके हैं प्रकाशित
इस कथा संग्रह से पूर्व उनका मैथिली भाषा में सरिसो में भूत कथा संग्रह वर्ष 2004, धर्मवीर भारती का लिखित कविता संग्रह कनुप्रिया का मैथिली भाषा में अनुवाद वर्ष 2004, हिंदी में गंगा नहाना बाकी है वर्ष 2014, मैथिली कविता संग्रह क्षमा करब हे महादेव वर्ष 2016 में प्रकाशित हो चुका है।

पढ़े :   ​मैथिलि फिल्म "दूल्हा चोर" की प्रदर्शन तिथि बढ़ी आगे 

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!