लंदन से पटना आई टीम: घर बैठे आप ऐसे कर सकते हैं प्रकाशपर्व का LIVE दर्शन, यहां करे क्लिक

प्रकाशोत्सव को लेकर बिहार में सारी तैयारियां पूरी हो चुकी है। गुरुगोविंद सिंह जी महाराज के 350 जत्था प्रकाशपर्व का पर तख्त श्री हरमंदिर साहब गुरुद्वारा तो पहुँच वें ही रहे हैं लोगों। लेकिन उनलोगों को निराश होने की जरुरत नहीं है जो किसी कारणवश पटना गुरुजी के दर्शन को नहीं आ पा रहे हैं।

जी हां देश विदेश में रहने वाले श्रद्धालु गुरु गोविंद सिंह जी के इस उत्सव को लाइव देख सकें इसके लिये भी व्यवस्था की गयी है। इसके लिए लंदन से एक टीम पहुंची है जिसमें 15 लोग शामिल हैं। यह टीम पटना सिटी गुरुद्वारा, बाल लीला, गांधी मैदान टेंट सिटी और कंगन घाट सहित बाकी जगहों से लाइव प्रसारण करेगी। कोई भी श्रद्धालु लाइव प्रसारण देखने के लिए यहां क्लिक करें …

यूके से प्रकाशोत्सव में आए सुखवीर सिंह ने बताया कि जो प्रकाशोत्सव में नहीं आ सके उनके लिए यू-ट्यूब पर लाइव दिखाने की व्यवस्था की गई हैं। हमारे 50 लाख फॉलोवर्स हैं, वे सभी लाइव दर्शन करेंगे। लाइव रिकॉर्डिंग करने के बाद रिकॉर्डिंग स्टोर कर चैनल पर भी इसका प्रसारण किया जाएगा।

हमने बड़े-बड़े इवेंट देखें हैं, लेकिन ऐसा इंतजाम कहीं नहीं
लंदन से आए सुखवीर सिंह से बताते हैं कि हमने बड़े-बड़े इवेंट देखें हैं, लेकिन जैसा इंतजाम यहां किया गया है वह काबिले तारीफ है। बिहारी लोग काफी अच्छे निकले। कमाल कर दिया सबने। इंतजाम देख कर हम तो दंग रह गए। पंजाब का प्रसिद्ध उत्सव होला मोहल्ला सबसे बड़ा उत्सव है। सिखों के पवित्र स्थान आनंदपुर साहिब में हर साल मार्च में इसका आयोजन होता है। वहां की तैयारी से भी यहां का इंतजाम आगे है। प्रकाशोत्सव सिर्फ एक सेलिब्रेशन नहीं है, बल्कि अपने जीवन में उतारने का है और गुरुगोविंद सिंह जी महाराज के बताए रास्ते पर चलने का है।

PC: https://www.facebook.com/Thevowstudio.inPatnaRohitroy8294466550/

बिजनेस और सब काम छोड़ सेवा के लिए आए हैं
लंदन में प्रीतपाल जी स्प्रिट यूके, नेटवर्क एंड सिक्यूरिटी के डायरेक्टर हैं। बाबा महिंद्र सिंह जी गुरुनानक निश काम सेवक जत्था, यूके से भी जुड़े हैं। इस टीम के तीन सौ सेवादार लंदन से आने वाले हैं। इसमें से 100 श्रद्धालु पटना पहुंच चुके हैं। प्रीतपाल बताते हैं कि गुरुगोविंद सिंह जी महाराज के आदर्शों पर चल कर ही हम आगे बढ़ सकते हैं। प्रकाशोत्सव हमारे लिए बहुत खास है। बिजनेस और सारा काम छोड़ छुट्टी लेकर लोग दर्शन के लिए यहां अाए हैं।

पढ़े :   अंतरिक्ष की दुनिया में ISRO ने रचा इतिहास: सबसे वजनी रॉकेट GSLV मार्क 3 का सफल प्रक्षेपण

भोजन पचाने के लिए चूर्ण, दर्द भगाने के लिए मालिश
ठंड में बुजुर्ग के साथ-साथ नवजात को लेकर भी प्रकाशोत्सव में शिरकत करने के लिए श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। श्री अमृतसर साहिब से आए 70 वर्षीय वैद्य बुजुर्ग सुबा सिंह कहते हैं- बच्चों यह सब नहीं दिखाएंगे तो उन्हें संस्कार के बारे में कैसे पता चलेगा। बनाना, खिलाना और बर्तन भी धोना है। यह सब कुछ करना पड़ता है। जिसके पास जो है, वह उसी से मदद कर रहा है। कोई तन से, कोई मन से तो कोई धन से। यही समर्पण है। कंगन घाट टेंट सिटी में मेडिकल कैंप में 20 लोगों की टीम है। इसमें डॉक्टर, पारा मेडिकल स्टाफ और सेवादार हैं। ये लोग अमृतसर से आए हैं। सात जनवरी तक श्रद्धालुओं को सेवा देंगे। कैंप में एलोपैथ, आयुर्वेद और एक्युप्रेशर से इलाज की व्यवस्था है। भोजन के बाद यदि अपच की शिकायत है तो उसके लिए वैद्य सुबा सिंह ने गुणकारी चूर्ण तैयार किया है। लंगर छकने के बाद इस चूर्ण को लेने के लिए लोग पहुंच रहे हैं। मेडिकल कैंप में श्रद्धालु सिर दर्द, आंखों में कोई गड़बड़ी, बैक पेन, सर्वाइकल पेन या फिर किसी तरह के दर्द की शिकायत लेकर आ रहे हैं। दर्द होने पर तेल मालिश की भी सुविधा है। अन्य बीमारियों से राहत देने के लिए एलोपैथ और आयुर्वेद की दवा दी जा रही है। टीम के डॉ. रविकांत बीपी चेक करने में व्यस्त दिखे। मेडिकल टीम के पास 100 से अधिक प्रकार की दवाएं हैं। ऐसी दवाएं जिसकी जरूरत किसी भी बीमारी के लिए प्राथमिक उपचार के लिए जरूरी होती है।

पढ़े :   जल्द ही मेट्रो शहरों को टक्कर देगा बिहार का ये तीन स्टेशन

Live Bihar News

Our Goal is to Bring Important News, Photos and Information to the Public By Using Social Media, News Paper and E-News.

Leave a Reply

error: Content is protected !!