इस्तीफा देकर RJD में शामिल हुए JDU MLA सरफराज

बिहार में होने वाले उपचुनाव से पहले सत्तारूढ़ जेडीयू को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के नेता और अररिया जिले के जोकीहाट सीट से विधायक सरफराज आलम ने विधानसभा और जेडीयू की सदस्यता से इस्तीफा दिया और राजद का दामन थाम लिया। अब वह राजद के टिकट से अररिया के लोकसभा सीट से होने वाला उपचुनाव लड़ सकते हैं।

इस मौके पर सरफराज ने कहा कि मैंने अपने क्षेत्र के लोगों के कहने पर यह फैसला किया है। मेरी मां ने आदेश दिया था कि जिस पार्टी में तुम्हारे पिता थे उसी पार्टी में शामिल हो जाए। मैंने अपनी मां का कहना माना है। जदयू जब तक सेकुलर पार्टी थी मैं उसमें था। अब स्थिति बदल गई थी। मुझ पर सीमांचल के लोगों का प्रेशर था।

इस मौके पर आरजेडी लीडर शिवानंद तिवारी ने कहा कि जदयू में अभी और टूट होगी। एनडीए में एक बेचैनी है। वे कह रहे थे कि आरजेडी टूर रही है, लेकिन देखिए आज सरफराज आरजेडी में शामिल हो गए। इनकी घर वापसी हुई है और लोग हैं जो हमारी पार्टी में आएंगे।

यह तो शुरुआत है: तेजस्वी
सरफराज के इस्तीफा पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि यह तो शुरुआत है। आगे देखिए कैसे जदयू में भूचाल आता है। जदयू के अंदर काफी आक्रोश है। पार्टी के नेता नीतीश कुमार से अधिक आरसीपी सिंह से नाराज हैं। वह नेताओं को महत्व नहीं दे रहे हैं। आने वाले समय में जदयू में और भगदड़ मचेगी।

एक सप्ताह पहले बन गई थी बात
सरफराज के जदयू से अलग होकर आरजेडी में शामिल होने और पार्टी के टिकट से चुनाव लड़ने की चर्चा क्षेत्र में कई दिनों से चल रही थी। एक सप्ताह पहले इस संबंध में सरफराज आलम ने पटना में तेजस्वी यादव से मुलाकात की थी। इसी मुलाकात में सरफराज को आरजेडी से टिकट मिलना तय हो गया था। शुक्रवार को चुनाव आयोग ने 11 मार्च को वोटिंग और 14 मार्च को मतगणना की तारीख तय की। चुनाव की तारीख सामने आते ही सरफराज ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

पढ़े :   मुख्यमंत्री नीतीश ने 'कमल के फूल' में रंग भरा, तस्वीरें हुई वायरल...

कौन हैं सरफराज?
सरफराज आलम दिवंगत सांसद मो. तस्लीमुद्दीन के बेटे हैं। वह जोकीहाट से जदयू विधायक थे। सरफराज आलम ने पिता को श्रद्धांजलि देने के बहाने पहले ही राजद के मंच से दावेदारी पेश कर दी थी। 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में आरजेडी के टिकट से दिवंगत नेता तस्लीमुद्दीन विजयी हुए थे। 17 सितंबर 2017 को तस्लीमुद्दीन का निधन हो गया था, जिसके चलते यह सीट खाली हो गई थी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!