नेपाली सदन की नामित सदस्य चुनी गयी बिहार की बेटी, …जानिए

बिहार के बांका जिले के बौंसी के मधुसूदन मंदिर के समीप श्यामा कांत मंडल की दूसरी बेटी रानी मंडल राष्ट्रीय जनता पार्टी से नेपाल के सदन की नामित सदस्य चुनी गयी हैं। उनकी बड़ी बहन रीता देवी, उनके पति विशेष लोक अभियोजक अधिवक्ता शंकर जय किशन मंडल व उनके परिजन में खुशी की लहर है। उन्होंने रानी मंडल को नेपाल फोन करके बधाई दी है।

उन्होंने बताया कि पिता श्यामाकांत मंडल बोकारो स्टील प्लांट में इंजीनियर थे। वहीं पर सभी तीन बहनों की पढ़ाई हुई। उनकी छोटी बहन रीना मंडल धनबाद में रहती है। उनके दो भाई राकेश कुमार तथा राजेश कुमार हैं। रीता देवी के पति अधिवक्ता शंकर जयकिशन मंडल ने कहा कि रानी मंडल ने न सिर्फ बिहार बल्कि पूरे देश का नाम रोशन किया है। नेपाल के उच्च सदन का सदस्य मनोनीत होना अपने आप में श्रेष्ठ पद पर आसीन होना है। रानी मंडल की शुरू से ही सामाजिक गतिविधि में दिलचस्पी रही है।

पिता ने कहा, सूचना सुन कर कानों पर सहसा विश्वास ही नहीं हुआ
रानी मंडल के पिता श्यामाकांत मंडल ने बताया कि उन्हें फोन से जानकारी मिली कि उनकी बेटी नेपाल के उच्च सदन में चुनी गयी है। खबर सुनकर कानों पर विश्वास नहीं हो रहा था। लेकिन, हकीकत तो दुनिया जान गयी है।

उन्होंने आगे बताया कि वे स्वयं बोकारो स्टील सीटी प्लांट में इंजीनियर थे। लेकिन, वर्ष 2002 में वोलेंट्री रिटायरमेंट ले लिया था। उनकी पुत्री ने बोकारो के स्टील सीटी विद्यालय में ही अपनी पढ़ाई की है। रानी की शादी 1994 में नेपाल स्थित राजविराज में रहनेवाले खुशीलाल मंडल के पुत्र डॉ टेक नारायण मंडल से बड़े ही धूमधाम से हुई थी। रानी के ससुर पहले से ही नेपाल की सक्रिय राजनीति में थे। उन्होंने भी कई सालों तक सांसद रहते हुए नेपाल में अपनी सेवाएं दी हैं।

पढ़े :   चारा घोटाला के चौथे मामले में लालू प्रसाद यादव को दो धाराओं में 14 साल की सजा, 60 लाख जुर्माना

आगे उन्होंने बताया कि नेपाल में पुत्री की शादी का रिश्ता दरभंगा निवासी महेंद्र मंडल लेकर मेरे पास आये थे, जो बोकारो स्टील सीटी के शिक्षा विभाग में ही कार्यरत थे। रिश्ता आने के बाद बिहार बॉर्डर से करीब 25 किलोमीटर दूर स्थित नेपाल के राजविराज में उनकी शादी करा दी गयी थी। पुत्री रानी को दो पुत्र हैं, जो भारत के ही अच्छे संस्थान में रह कर इंजीनियरिंग फाइनल ईयर की पढ़ाई कर रहे हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!