अनशन का 16वां दिन, सरकार ने नहीं ली सुध

​महेंन्द्र प्रसाद, सहरसा

  • डेंगराही अनशन लेने लगा जनआंदोलन का रूप
  • कहीं सड़क जाम तो कहीं पुजा अर्चना
  • अनशन स्थल से लेकर प्रखंड, अनुमंडल व जिला मुख्यालय तक निकली मोटरसाईकिल जूलुस
  • डेंगराही अनशन का सोलहवां दिन भी रहा जारी

कोसी दियारा के फरकिया क्षेत्र स्थित चानन पंचायत के डेंगराही घाट पर पिछले 19 फरवरी से पुल व सड़क निर्माण की मांग को लेकर चल रहा अनशन व धरना प्रदर्शन सोलहवां दिन भी जारी रहा।

वही मुख्य अनशनकारी बाबू लाल शौर्य,रितेश रंजन,प्रवीण आनंद,सुभाष चन्द्र जोशी,कैलाश पासवान सहित सभी अनशनकारीयों की हालात दिन ब दिन बिगरती जा रही है । वही चिकित्सकों के द्वारा लगातार स्लाईन चढ़ाने का कार्य जारी है। शनिवार को देर शाम सिविल सर्जन सहरसा अनशन स्थल पहुंच अनशनकारीयों की हालात का जायजा ले लौट गयें। वही रविवार को भाजपा विधायक निरज कुमार बब्लू अनशनकारीयों के समर्थन में अनशन स्थल पहुंच अपना समर्थन दिया और इस मामले में सरकार को विधानमंडल में धेरने का आश्वाशन दिया ।

वही सोमवार को यह अनशन जनआंदोलन का रूप लेने लगी है।सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल क्षेत्र से लेकर जिला मुख्यालय तक इस अनशन के समर्थन में कई कार्यक्रम आयोजित की गई।

एनएच 107 जाम –

एनयूएसआई के जिला महासचिव खगेश कुमार  के नेतृत्व में युवाओं ने सोमवार को सिमरीबख्तियारपुर- सोनवर्षा एनएच 107  पहाड़पुर बाजार को जाम कर व टायर जला प्रर्दशन किया ।  वही उन्होंने कहा कि कोसी व कमला नदीं में महासेतु निर्माण की मांग को लेकर जारी बाबूलाल शौर्य के नेतृत्व में 16 वें दिन भी अनशन  जारी है कई अनशनकारी की काफी स्थिति बिगरने के बावजूद बिहार सरकार ने सुधी तक नहीं लिया और अपने तानाशाही पर बरकरार है वही अनशनकारी बाबूलाल शौर्य , पूर्व जिप उपाध्यक्ष रितेश रंजन ,पूर्व जिप सदस्य प्रवीण आनंद  को जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है । वही विरोध में प्रदर्शनकारियों ने बिहार सरकार के विरूद्ध जमकर नारेवाजी करते हूये अनशनकारियों की सुरक्षा की मांग की और पहाड़पुर बाजार में  करीब दो घंटा जाम व टायर जलाकर सड़क जाम कर दिया । वही इस दौरान सभी प्रदर्शनकारीयों एक स्वर में एक मांग पुल निर्माण , हौसला ना खोना रितेश ,प्रवीण , बाबूलाल हम तुम्हारे साथ हैं के नारे लगाया और कहा कि जल्द से जल्द अनशनकारियों का अनशन नहीं तुड़वाया तो आंन्दोलन और उग्र रूप लेगा और पटना से होते हूये दिल्ली जाऐगी । ज्ञात हो की 19 फरवरी से डेंगराही घाट पर महासेतु निर्माण और फरकिया के चौहमुखी विकास के लिए बाबूलाल शौर्य के नेतृत्व में आमरण अनशन धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। प्रर्दशन के मौक पर  मंगल साह ,मुकेश कुमार ,सुधांशु कुमार ,राजीव कुमार ,आकाश कुमार ,निखिल कुमार ,अजय कुमार ,चेतन कुमार ,विरू कुमार सहित अन्य लोग मौजूद रहें

बाबा मटेश्वर धाम में पुजा-अर्चना – 

पढ़े :   बिहार के इस एयरपोर्ट को बनाया जाएगा अंतरराष्ट्रीय स्तर का, ...पढ़ें

अनशन के समर्थन में सोमवार को समाजसेवी महम्मदपुर पंचायत के पूर्व मुखिया प्रतिनिधि एस कुमार के नेतृत्व में बलवाहाट स्थित प्रसिद्ध बाबा मटेश्वर धाम मंदिर में पुजा अर्चना कर बाबा भेले नाथ का जलाभिषेक किया गया। मंदिर के मुख्य पुजारी के उपस्थिती में विशेष पुजा का आयोजन किया गया।इस अवसर पर उन्होनें ने कहा कि आज हमलोगों यहां से पुजा-अर्चना की शुरूआत की है।डेंगराही में जितने भी अनशनकारी बैठे है उनके लिये भगवान भोले से मन्नत मांगी गई की उन लोगों को अपने मकसद में कामयाबी मिलें। पूर्व मुखिया ववली सिंह,अजय कुमार सिंह, रामोतार यादव सहित कई दर्जन लोगो ने कहा कि अगर डेंगराही में पूल बन जाता है तो जहां इस इलाके का उद्धार होगा, वही सहरसा से खगरिया की दुरी भी कम हो जायेगी। वही हर वर्ष सावन की महीने लाखो कावरिया जल चढाने बाबा मटेश्वर धाम आते है। उनके लिये भी सहुलित होगी।

मोटरसाईकिल जूलुस –

वही सोमवार को अनशनकारी सुभाष चन्द्र जोशी के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में आमजनों ने मोटरसाईकिल जूलुस निकाल पुल की मांग को लेकर रैली निकाली। डेंगराही घाट अनशन स्थल से करीब दो सौ की संख्या में मोटरसाईकिल सवार लोगों ने कोसी बांध होते हुये सलखुआ प्रखंड मुख्यालय पहुंचा वहां से नारेबाजी करते हुये सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन चौक होते हुये अनुमंडल मुख्यालय पहुंच अनुमंडल मुख्यालय का धेराव कर जमकर पुल की मांग में नारेबाजी किया। वहां से जूलुस नारेबाजी करते हुये जिला मुख्यालय के लिये रवाना हो गया। इस अवसर पर सुभाष चन्द्र जोशी ने मिडिया को बताया कि आज की इस रैली का एक ही मकसद है की आज सोलह दिनों से हमलोगों पुल व सड़क की मांग को लेकर अनशन कर रहें है लेकिन सरकार व प्रशासन के कानों में जू नही रेंग रही है जो काफी खेद का विषय है। क्या प्रशासन किसी अनशनकारी के मरने का इंतजार कर रही है ।

पढ़े :   बिहार के इस शहर का नाला उगलता है सोना-चांदी

क्या कहते है एसडीओ –

एसडीओ सुमन प्रसाद साह ने बताया कि अनशनकारी ने एक आवेदन दिया था, जिसमें जान की खतरा बताया था। इसी आलोक में उन लोगों की सुरक्षा के लिये पुलिस बल की तैनाती की गई है । उन्होनें फिर एक बार अनशनकारीयों से कहां है कि आप लोगों की मांग को सरकार के पास भेज दी गई है जल्द इस दिशा में ठोस परिणाम भी सामने आ गया है। पुल निर्माण निगम ने सर्वे के लिये टीम गठित कर दिया है।इस दिशा में काम भी शुरू हो गया है। उन्होनें ने कहा कि मानवीय आधार पर अनशन अब खत्म कर देना चाहिये।

Leave a Reply

error: Content is protected !!