अनशन को फूल समर्थन, पूल बनाने को लेकर बिहार सरकार दे एनओसी: सासंद कैसर

  • पुल की मांग को लेकर आमरण अनशन आठवे दिन भी रहा जारी
  •  एसडीओ, डीएसपी का कोशिस दूसरी बार भी बिफल
  • दूसरी बार प्रशासन और अनशनकारियों में वार्ता विफल
  • एक अनशनकारी को भेजा गया अस्पताल

महेंद्र प्रसाद, सहरसा

अनुमंडल के सलखुआ प्रखण्ड के पूर्वी कोसी तटबन्ध के अंदर डेंगराही घाट में शनिवार को भी सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्त्ता बाबू लाल शौर्य के द्वारा आठवे दिन भी अनशन जारी रहा।  इस अभियान में पुल सड़क निर्माण संघर्ष मोर्चा के कैलाश पासवान और जन संघर्ष अभियान के सुभाष चंद्र जोशी के संयुक्त तत्वाधान में अनिश्चित कालीन आमरण अनशन धरना जारी रहा.वही सातवे दिन अनशन स्थल पर खगड़िया सांसद चौधरी महबूब अली कैशर पहुंचे.इस मौके पर सांसद ने कहा कि महासेतु की मांग सौ प्रतिशत जायज है और मै इस जायज हक की लड़ाई में अनशनकारियों के साथ हूँ.उन्होंने कहा कि आज जब इस क्षेत्र के लोगो ने हक़ की आवाज को बुलंद किया है तो सुशासन की सरकार गायब है.सांसद ने कहा कि यदि बिहार सरकार पुल का निर्माण कराने में असमर्थ है तो एनओसी दे केंद्र सरकार पुल बनवा देगी.वही अनशन के सातवे दिन दोपहर बाद सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल पदाधिकारी सुमन प्रसाद साह, डीएसपी अजय नारायण यादव, सलखुआ बीडीओ विभेष आनंद डेंगराही पहुंचे और अनशनकारियो से अनशन समाप्त करने की अपील की.हालाँकि, अनशनकारियो ने कहा कि जब तक महासेतु का शिलान्यास नही हो जाता तब तक अनशन जारी रहेगा.वही सलखुआ पीएचसी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अनिल कुमार सिंह और डॉ प्रकाश कुमार आदि ने मौके पर पहुँच अनशनकारियों की सेहत की जांच  की.वही सांसद और प्रशासन के अनुरोध पर बिगड़ती सेहत की वजह से अनशनकारी नागेश्वर चौधरी को सलखुआ पीएचसी डॉक्टर की निगरानी में भिजवाया गया.शनिवार को डेंगराही पहुँचने वालो में कैलाश पासवान, डॉ सुनील यादव, जवाहर राम, कंचन पटेल, खगड़िया लोजपा अध्यक्ष मो मासूम, मो फिरोज आलम, कपिल देव महतो, राजद जिलाध्यक्ष मो जफर आलम आदि ने अनशन स्थल पर पहुँच अनशनकरी से मुलाकात की.इस मौके पर जनसंघर्ष अभियान के सुभाष चन्द्र जोशी, सामाजिक राजनीतिक कार्यकर्त्ता बाबूलाल शौर्य और कोसी पीड़ित मुक्ति मंच के अध्यक्ष दीनानाथ पटेल ने बताया कि हमारी मांग है की कोसी नदी के डेंगराही घाट पर पुल का निर्माण हो, चिड़ैया एवं बेलाही के बीच पुलिया का निर्माण किया जाये और जब तक इस पर सही आश्वासन नही मिलेगा हम अनशन पर डटे रहेंगे.उन्होंने कहा कि इसके साथ ही कमला नदी पर सुगरकोल घाट ग्राम झीमा पंचायत आनंदपुर मॉडन ग्राम झीमा के पास कमला का मूल धार पर पुल निर्माण, खजुरदेवा कोसी कॉलोनी से धाप कबीरा बेलाही चिड़ैया होते हुए ग्राम सरबजीता खगड़िया सीमा तक सड़क निर्माण एवं सरबजीता से सोनमंखी घाट खगड़िया तक सड़क निर्माण आबादी के हिसाब से स्वास्थ्य व्यवस्था हेतु अस्पताल का निर्माण, आबादी के हिसाब से उच्च विद्यालय एवं महाविद्याल का निर्माण किया जाये और यह मांग जब तक पूरी नही होंगी तब तक चानन पंचायत के डेंगराही में आमरण अनशन जारी रहेगा.वही सुरक्षा व्यवस्था की कमान सलखुआ थानाध्यक्ष तरुण कुमार तरुणेश, चिड़ैया ओपी प्रभारी राजीव लाल पंडित सहित दल-बल के साथ अनशनकरी जुटे.इस मौके पर जन संघर्ष अभियान सहरसा के संयोजक सुनील यादव, जनसंघर्ष अभियान खगड़िया के  संयोजक सुभाष चंद्र जोशी, प्रदेश अध्यक्ष महादलित विकाश मंच के रंजेश सदा, फरकिया पुल निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष कैलाश पासवान, पूर्व मुखिया जुगेश्वर यादव, मंच संचालक जवाहर सिंह, उदेश महतों, नेपाली बाबा,रामभरोश महतों, शम्भू साह, जीवेश पासवान,नागेश्वर चौधरी,मोहन सिंह, जगदीश सिंह, विद्यानंद सिंह, शत्रुघ्न महतों, पांडव यादव,सुनैना देवी,सीता देवी इत्यादि मौजूद थे.

पढ़े :   यह गांव बनेगा बिहार का पहला क्राफ्ट विलेज, ...जानिए

Leave a Reply

error: Content is protected !!