कोसी: बाढ़ के प्रकोप से लाखों लोग प्रभावित

महेंद्र प्रसाद, सहरसा
उत्तर बिहार के लगभग आधा दर्जन पंचयात इस समय कोसी की विभीषिका झेलने को मजबूर है। सेकड़ो घरों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है।

लोगो को तटबन्ध, या किसी ऊँचे जगह शरण लिये है। पीने की पानी, शौचालय का भारी दिक्कत हो रही है। सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपूर अनुमंडल के सिमरी बख्तियारपूर एवं सलखुआ के तटबन्ध के अंदर कई घरों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है।

जिस कारण यहां लोगो को आवागवन की गंभीर संकट उत्पन्न हो गया है। सिमरी बख्तियारपूर के तत्वन्ध के अंदर बेलवारा, कथदुमर, धनुपरा एवं घोघसम के सेकड़ो घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है। कथदुमर पंचयात के वार्ड नंबर 1 के वार्ड सदस्य गयत्री देवी ने बताया कि रामनगर, दह, बुरका टोल, खर्रा सहित लगभग हर तोला में पानी ही पानी है।

काठदुमर निवासी जितेंद्र यादव ने बताया कि पंचयात चारो तरफ बुरी तरह आए पानी से घिर गया है। आवागमन की व्यस्था नही रहने के कारण लोग घर मे कैद हो गया है। अवयश्यक वस्तु भी नही खरीद पा रहा है। बेलवारा पंचयात के लगभग 15 वार्ड ने एक वार्ड बेलवारा पुर्नवास को छोड़कर लगभग 14 वार्ड में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। बांध के बेलवारा लक्ष्मीनिया जाने वाली सड़क में दो फिट पानी बह रहा है।

पंचयात के मुखिया बंटी देवी ने बताई की पूरे पंचयात में बाढ़ की पानी से तवाही मचा है। पंचयात के लगभग 15 हजार आवादी बाढ़ से पूरी तरह घिर गया है। लक्ष्मीनिया गांव निवासी बिपिन कुमार ने बताया कि बाढ़ के पानी आ जाने से मवेशी की चारा के साथ रखने को भारी दिक्कत का सामना करना पर रह है। वही चारा की भी भारी किल्लत हो गया है।

पढ़े :   हार कर भी जीत गए किंगमेकर रितेश रंजन

सलखुआ पंचयात के चानन, कबीरा, समारखुर्द, अलानी, सितुआहा के लगभग 50 हजार आवादी इस समय बाढ़ से घिर गया है। कई लोगो के घरों में घुसने के कारण बाढ़पीड़ित तटबन्ध पर शरण लिये है।

एसडीओ, सीओ ने किया बाढ़ प्रभावित इलाके दौरा
अनुमंडल पदाधिकारी सुमन प्रसाद साह, सिमरी बख्तियारपूर सीओ धर्मेंद्र पंडित, सलखुआ सीओ संजय कुमार महतो ने तटबन्ध का निरक्षण किया। एसडीओ श्री साह ने कहा कि तटबन्ध के अंदर के लगभग सभी पंचयात तो बाढ़ से घिरा है। लेकिन सीओ को कोन कोन टोला एवं घर मे पानी घुसा है। विस्तृत रूप से जानकारी इकठा किया जा रहा है। तब आगे की करवाई की जाएगी। तटबन्ध से अंदर लक्षिमिनिया जा रही सड़क पर दो फीट पानी बह रहा है। पानी की धारा तेज रहने के कारण सड़क कभी भी बह सकती है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!