पुल के लिये 12 किलोमीटर मानव श्रृंखला बनी कोसी दियारा में

महेंद्र प्रसाद, सहरसा

  • ​डेंगराही पुल के समर्थन में 12 किलोमीटर बनी मानव श्रृंखला
  • अनशन के 12वे दिन कई नेता एवं अधिकारी अनशन स्थल पर पहुचे

पूल निर्माण को लेकर विगत 19 फ़रवरी से डेंगराही घाट पर प्रारम्भ आमरण अनशन के 12वे दिन 12 किलोमीटर लम्बी मानव श्रृंखला बनी। एक मांग, पूल निर्माण की नारे के साथ महिला, पुरुष, बच्चे एवं बूढ़े लाइन में लगे रहे। मुख्य कोसी नदी के डेंग राही घाट पर पुल की मांग को लेकर  ये मानव श्रंखला बनी। सोनमंखी घाट से डेंग राही घाट तक ये मानव श्रृंखला बनायीं गयी। इस मनाव श्रुंखला में लोगो का जवर्दस्त समर्थन मिला।

35 महिला एवं 16 पुरुष बैठे है अनशन पर-

डेंग राही घाट पर 35 महिलाये एवम 16 पुरूष स्थल पर बैठे है। जिसने 2 महिलाये की हालात गंभीर है। 7 महिलाये को पानी चढ़ाया जा रहा है। जिन महिलाये की हालत गंभीर है उनमे सुनैना देवी एवं चुनर देवी शामिल है। हलाकि डॉक्टर की टीम दिन रात इन अनशनकारी की नियमित चेकअप करता है। अनशन स्थल पर बाबूलाल शौर्य, रितेश रंजन, प्रवीण आनंद,  सुभाष चंद्र जोशी, दीनानाथ पटेल, कैलाश पश्वान, राम भरोश महतो सहित 51 लोग अनशन पर बैठे है। दीनानाथ पटेल 24 साल से एवं सुभाषचंद्र जोशी 14 साल से डेंग राही में पुल बनाने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे है।

पूल निर्माण के कनीय अभियंता पहुचे-

अनशन स्थाल पर जिला परिवहन पद्गाधिकारी राजीव कुमार, जिला योजना पधाधिकारु रणविजय कुमार पुल निर्माण के कनीय अभियंता रोहित कुमार गुप्ता, उमेश प्रसाद यादव, संजय पासवान एवं पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक पदाधिकारी सुनील कुमार मांझी पहुच सर्वे की जानकारी लिया। हलाकि कनीय अभियंता के अनशन स्थल पर पहुचने को लेकर बाबूलाल शौर्य एवं रितेश रंजन जिला प्रसाशन की इस तरह के कार्य पर नाराजगी दिखाई। इन लोगो ने कहा कि अनशन तोड़वाने के लिए ये जिला प्रसाशन की नयी चाल है। हमलोग इस झांसे ने नहीं आने वाले है।

विधानसभा में उठेगा मामला-

पढ़े :   फिट हो अधिकारी व जवान रहें तनावमुक्त इसलिये बिहार के इस एसपी ने अपने खर्चे पर खोला जिम

अनशन स्थल पर पहुचे सहरसा के पूर्व विधयाक अलोक रंजन, भाजपा के जिलाध्यक्ष माधव चौधरी, नगर पंचायत अध्यक्ष संजीव कुमार भगत, हीरा प्रभाकर पहुचे। पूर्व विधयाक श्री रंजन ने कहा कि इस मामले को विधानसभा में पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने डेंग राही से संबंधित जानकारी मांगी है। भाजपा नेता ने एलान किया कि अगर जल्दी ही पुल निर्माण की आधारशिला नहीं रखा गया तो बीजेपी भी धरना में बैठ जायेगी।

कोन है बाबूलाल शौर्य-

बाबुलाल शौर्य खगरिया जिले के परबत्ता थाना के सियादत अगवानी पंचयात के डुमरिया गांव का रहने वाले है। डेंग राही में इंज 30वा अनशन है। जेल में 2013 में 15 दिन एवं 10 दिन के बाद 25 दिन का अनशन कर चूके है। पहला अनशन खगरिया कोसी कॉलेज में पीजी की पढाई को लेकर वर्ष 2008 में किया था। उस समय केंद्रीय मंत्री रामविलाश पासवान के माँ की श्राद्ध में पहुचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पढाई की घोषणा किये जाने के बाद अनशन तोडा था। जेल ने ही अनशन जे दौरान 35 निर्दोश लड़का को छुड़वाया था। 2008 ने मुझयमंत्री को काला झंडा दिखने के आरोप में पहला बार जेल गया था।

Leave a Reply

error: Content is protected !!