बसैठ बस हादसे के शिकार मृतकों के परिजन को मिला दो लाख रुपये का चेक 

मधुबनी (बेनीपट्टी):  बेनीपट्टी में बीते साल बसैठ के सुंदरपुर टोले के पास बस हादसे के शिकार मृतकों के परिजनों को शुक्रवार को बेनीपट्टी सीओ ललित कुमार सिंह के द्वारा प्रधानमंत्री राहत मद से दो लाख रुपये का चेक प्रदान किया गया। चेक ग्रहण करनेवालों में मो. मासूम नट, गुलवता खातून, गुलनाज खातुन, मोमीन अंसारी, भिखारी शर्मा, अफताब शाह व राकेश मंडल समेत कुल सात लोगों को दो लाख रुपये का चेक प्रदान कर मृतकों के प्रति श्रर्द्धांजलि व्यक्त की गयी। चेक प्रदान करते हुए सीओ श्री सिंह ने कहा कि मृतकों की कमी को अंचल प्रशासन पूरा तो नही कर सकती, पर सरकार द्वारा प्रदत राशि उपलब्ध कराकर संवेदना व्यक्त करते हुए यह कहा जा सकता है कि अब उनके परिजन नये सिरे से परिवार की देख भाल करें और इसमें प्रशासन के द्वारा हरसंभव मदद दी जायेगी।ज्ञातव्य हो कि बीते साल 19 सितंबर 2016 को बसैठ स्थित सुदंरपुर टोले के समीप एक गहरे तालाब में बेनीपट्टी से पुपरी जाने के क्रम में यात्रियों से खचाखच भरी सागर ट्रेवल्स नामक बस जा गिरी थी, जिसमें 23 लोगों के मरने की पुष्टि जिला प्रशासन के द्वारा की गयी थी। उक्त हादसे की खबर मिलते ही पीएम नरेंद्र मोदी के द्वारा गहरी संवेदनायें प्रकट की गयी थी और मृतकों के परिजनों को पीएम राहत मद से दो-दो लाख की सहायता राशि देने की घोषणा की गयी थी। जो घटना के करीब छह महीने बाद परिजनों को देने के लिये अंचल कार्यालय को उपलब्ध करा दिया गया। हालांकि राज्य सरकार के द्वारा सभी मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये सहायता राशि के रुप में तत्काल ही उपलब्ध करा दिये गये थे। वहीं अंचल अधिकारी श्री सिंह ने बताया कि सभी मृतकों के परिजनों के लिये दो-दो लाख का उक्त मद की राशि अंचल कार्यालय को प्राप्त हो चुका है। सूचनायें सभी मृतकों के परिजनों को दी गयी थी, पर अब तक कुल सात मृतकों के परिजन ही अंचल कार्यालय में पहुंच सके हैं, जिन्हें चेक प्रदान कर दिया गया है और शेष बचे लोगों का भी चेक कार्यालय में जमा हैं। शेष मृतकों के परिजनों के कार्यालय पहुंचने पर चेक उपलब्ध करा दिया जायेगा।

पढ़े :   रामनवमी के जुलूस के दौरान दो समुदायों में झड़प, आगजनी 

रिपोर्ट: चंदन कुमार 

Chandan Kumar

Student/Social Activist/Blogger/News Writer

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!