बिजली विभाग की लापरवाही से गयी एक मासूम की जान

सिमरी बख्तियारपूर, सहरसा
बनमा इटहरी प्रखंड के कुसमी मुहशरी के पास बिजली के 11 हजार ताड गिरने के बाद उनके चपेट में आने से एक बच्चे की मौत हो गया। मृतक बच्चा कुसमी मुहशरी निवासी जालो सादा के 8 वर्षीय पुत्र रवि कुमार है। बच्चे की बिजली करंट से मौत हो जाने पर आक्रोशित लोगों ने सिमरी बख्तियारपूर-बनमा सड़क को जाम कर बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया। इस घटना में बिजली विभाग के लापरवाही साफ दिखती है।

ग्रामीणों एवं परिजन के मुताबिक 11 हजार बिजली के तार सुबह लगभग 6 बजे ही गिर गया। ग्रामीण बिजली विभाग को तार गिरने की सूचना भी दिया। लेकिन ग्रामीणों के मुताबिक लाइन काटने के नाम पर बिजली मिस्त्री रुपए की डिमांड कर दिया। बच्चे सुबह के 8 बजे शौच के लिए निकला, जहा गिरा तार की चपेट में आ गया एवं उनकी मौत हो गयी। जाम की सूचना पर बनमा बीडीओ नूतन कुमारी स्थल पर पहुच आक्रोशित लोगों को समझया। तब जाकर लोगो ने जाम तोड़ा।

ग्रामीणों के मुताबिक अगर जिस समय बिजली विभाग को 11 हजार तार गिरने की सूचना दिया था, उसी समय अगर विभाग तत्परता दिखती एवं लाइन काट देता तो कम से कम इस मासूम को जान बच जाता।।विभाग की सरासर लापरवाही के कारण एक महादलित बच्चे को जान से हाथ धोना पड़ा। ग्रामीण लगभग डेढ़ घंटे तक जाम कर यातायात ठप कर दिया। जिन कारण लोगो को आने जाने में परेसानी हुए।

पढ़े :   ​निरहुआ हिंदुस्तानी-2 के लेखक अरविंद तिवारी बने युवाओं के लिए प्रेरणा 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!