बिहार में दो लाख भूत खा रहे मिड-डे-मील, जानिए पूरा मामला

बिहार में शराबबंदी के बाद थानों के मालखानों में चूहों द्वारा शराब पीने की खबर आयी थी। अब भूतों द्वारा मध्याह्न भोजन खाने की खबर आ रही है। मामला अररिया जिले का है।

जिले के 251 प्राथमिक विद्यालय के हेडमास्टार पर जुर्माना लगाया गया है। जुर्माने की वजह जानकार आप हैरान हो जायेंगे। दरअसल, इन प्राथमिक विद्यालयों में करीब दो लाख भूत छात्रों को मिड डे मील भोजन परोसा जा रहा था।

दरअसल, मध्याह्न भोजन की वार्षिक समीक्षा के दौरान अनियमितता का मामला उजागर हुआ। 2,080 प्राथमिक स्कूंलों के निरीक्षण में यह पता चला कि साढ़े पांच लाख बच्चों को मध्याह्न भोजन दिया जा रहा है। जब इसकी जांच की गई तो इसमें से दो लाख बच्चे फर्जी पाये गये।

जिला शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दो लाख बच्चे जिन्होंने कभी स्कूल का मुंह नहीं देखा है, वे भी प्रतिदिन मध्याह्न भोजन खा रहे थे। इनमें से अधिकांश का तो कोई नामों निशान ही नहीं है और कुछ दूसरे जगह पढ़ाई कर रहे हैं।

मिड डे मील योजना में गड़बड़ी की जांच बाद जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सुभाष गुप्ता ने कहा कि 251 स्कूलों के हेडमास्टर पर 61.68 लाख का जुर्माना लगाया गया है। इनमें से करीब 70 प्रतिशत ने इसे जमा भी कर दिया है। एक हेडमास्टर पर जुर्माने की राशि 20 हजार से 1 लाख रूपये तक लगायी गई है। जिन लोगों ने मिड डे मील की राशि जमा नहीं की है, उनके उपर कठोर कार्रवाई की जायेगी।

पढ़े :   #VivoProKabaddiFinal: पटना पाइरेट्स ने लगातार तीसरी बार जीता प्रो कबड्डी का ख़िताब

Leave a Reply

error: Content is protected !!