लोजपा नेता पर हत्या का आरोप 

मधुबनी : बिहार के मधुबनी जिले में अपराधों की ग्राफ दिन पर दिन बढ़ती ही दिख रही है। राज्य के सबसे शांत जिलों में गिनती आनेवाला मधुबनी जिला अब आपराधिक क्षेत्र में गिने जाने लगा है। बीते माह में करीब 10 से 15 हत्या की घटनायें हो चुकी है। जिससे  यहाँ के आम नागरिक अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। आम नागरिक तो आम नागरिक सरकार के मंत्री और विधायक भी महफूज नहीं है। दिन प्रतिदिन घट रहे घटनाओं से आम नागरिक भयभीत और डरे सहमे नजर आते हैं। जिस तरह से घटनायें हो रही है, लग रहा है प्रशाशन के सामने कड़ी चुनैती बन गयी है।

मामला 29 मार्च का है जहाँ अपराधियो ने 29 मार्च के रात में मधुबनी जिले के राजनगर थाना क्षेत्र के कोईलख गांव के रहने वाले रामप्रकाश राम के दामाद कन्हैया कुमार राम का गला दबाकर हत्या कर दिया और स्कार्पिओ गाड़ी लेके फरार हो गया। हालाँकि स्कार्पिओ गाड़ी नेपाल सीमा से सटे एक गांव के पास छोड़ कर भाग निकले। ड्राइवर कन्हैया कुमार राम की शव सीतामढ़ी जिले के नानपुर थाना अंतरगर्त गौड़ीचक गांव के पास सुबह होते ही लोगों ने देखा और पुलिस को सुचना किया। जिसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया और उसका अंतिम संस्कार की गई।

अब घटना के एक महीने से ऊपर हो गए लेकिन पुलिस के पास हत्यारा का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। बताया जाता है की कन्हैया लोजपा नेता चन्दन सिंह के यहाँ ड्राइवर की नौकरी करता था। तक़रीबन 5 साल से महज 7000 रुपया के मासिक वेतन पर नौकरी करता था। वेतन बढ़ाने को लेकर जब कन्हैया ने चन्दन सिंह से बताया तो उसके साथ गर्म मिजाज में बाताबाती हुई जिसके बाद कन्हैया चन्दन सिंह के पास से नौकरी छोड़ दिया।

पढ़े :   ​सीमा पर 112 बोतल शराब व बाईक के साथ कारोबारी गिरफ्तार 

परिजनों ने बताया कि चन्दन सिंह एक बिल्डर है और कई तरह के गोरख धंधा भी करता है। जिससे कन्हैया उसके सब कुकर्म के विषय में जानता था, कहीं कन्हैया मुंह नहीं खोल दे इसके लिए उसकी गला दबाकर हत्या करवा दिया। वहीं ड्राइवर कन्हैया कुमार राम की पत्नी उषा देवी लोजपा नेता चन्दन सिंह जो हाजीपुर का रहने वाला है, पर वो अपने पति की हत्या कर देने की आरोप लगाती है। यहाँ तक की कन्हैया के ससुराल वाले भी चन्दन सिंह पर हत्या का आरोप लगाते हैं , और हत्यारा मानते हैं।

रिपोर्ट: चंदन कुमार 

Leave a Reply