​जब बजरंगवली को भी थाना से लेना पड़ा जमानत

महेंद्र प्रसाद, सिमरी बख्तियारपूर, सहरसा

भगवान बजरंगवली को थाना से ज़मानत लेना पड़ा। तब पुलिस की कैद से मुक्त हो पाया बजरंगवली। मामला रोचक बख्तियारपूर थाना के सिमरी पंचयात के हिंदुपुर गांव का है। 

क्या है मामला- 5 अप्रेल को रामनवमी के दिन सिमरी पंचयात के हिंदुपुर के कुछ ग्रामीणों ने हिंदुपुर नहर के समीप एक बजरंगवली को प्रतिमा को पूरे श्रद्धा एवं भक्ति के साथ स्थापित किया। जूस स्थान पर बजरंगवली को स्थापित किया वहां लगभग 10 वर्षो से लोग बजरंगवली का ध्वजा की पूजा करते आ रहा था। जिस जगह पूजा हो रही था वहां एक बड़ा पीपल का पेड़ है। इसी पीपल के पेड़ के नीचे लोग पूरी श्रद्धा के साथ पूजा अर्चना करते आ रहा था। रामनवमी के दिन हिंदुपुर के वार्ड सदस्य निर्मल यादव, उनके पिता बोकु यादव सहित लगभग कई दर्जन ग्रामीणों ने वहा पर बजरंगवली को मूर्ति बैठा दिया था। लेकिन रात्रि के लगभग 10 बजे पुलिस गयी एव बजरंगवली की मूर्ति का उठा लिया। पुलिस ने ये करवाई हिंदुपुर एवं सिमरी बाजार के कुछ लोगो की शिकयत पर किया था। जो लोग पुलिस से शिकयत किया था वे लोग उसी स्थान से कुछ दूरी पर हटकर गायत्री मंदिर है। यही गायत्री मंदिर से जुड़े लोगों को वह पर बजरंगवली की मूर्ति स्थापित किये जाने से शिकायत किया था। शिकायत करने वाले लोगो ने पुलिस को बताया कि सरकारी जमीन हड़पने का ये लोग का साजिस है। जिन कारण ये लोग जबरन बजरंगवली की मूर्ति को नहर पर बैठाया है। पुलिस ने 5 अप्रेल की रात्रि ही नहर के समीप बजरंगवली की मूर्ति को उठाकर थाना में स्थित मंदिर में रख दिया। 

कई ग्रामीण एवं नेता के कहने पर वापस किया बजरंगवली की मूर्ति- थाना के द्वारा बजरंगवली की मूर्ति को उठाने के बाद कुछ लोगो मे आक्रोश था। पुलिस ने अंचलाधिकारी के प्रतिवेदन पर 7 लोगो पर 107 की करवाई के लिए अनुमंडल न्यायालय में आवेदन दिया। इसी आवेदन के आधार पर न्यायालय ने 7 लोगो के ऊपर 107 की करवाई प्रारम्भ है। इधर थाना में रखे बजरंगवली की मूर्ति थाना इस शर्त पर देने को तैयार हुआ कि जिस स्थान से मूर्ति उठाया गया है, वहां दुबारा स्थापित नही हो। फिर ग्रामीणों ने मध्य विद्यालय समस्तीपुर हिंदी के उत्तर खेदन बाबा स्थान पर मूर्ति को खुले स्थान पर रख दिया। जहा अब ये लोग न्यायालय का चक्कर लगा रहा है। वही अब फिर पूरे श्रद्धा के साथ खेदन बाबा प्रांगण में मूर्ति स्थापित करने का मन भी बना चुके है। खेदन बाबा मंदिर के पुजारी अहरुलिया देवी, बिरेन मुखिया, सहित कई महिला ने कही की अब भगवान पर भी पुलिस करवाई कर रही है। बजरंगवली की मूर्ति उठाकर पुलिस ले गया। बजरंगवली को थाना से जमानत कराकर लाना पड़ा। 

थाना ने 7 लोगो पर किया करवाई किया- का विवाद में पुलिस ने बोकु यादव, बिपिन यादव, निर्मल यादव उर्फ ढालो यक़दव, बिनोद यादव, बिरेन मुखिया, किशोरी यादव, एवं गोपाल यादव पर सरकारी ज़मीन पर कब्ज़ा करने, मूर्ति स्थापित किये जाने से तनाव उत्पन की संभावना, एवं उच्चतम न्यायालय के आदेश के आलोक का हवाला देते हुए करवाई किया।

पढ़े :   भवन निर्माण में हो रही अनियमितता की जाँच में पहुंचे एसडीएम व विधायक

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!