​पुल की मांग को लेकर विगत सात दिन से कोसी दियारा में हो रहा है आमरण अनशन

  • डेंग राही घाट में पूल मांग को लेकर सातवे दिन भी आमरण अनशन जारी

महेंद्र प्रसाद, सहरसा

कोसी तटबंध के अंदर डेंगराही घाट में पूल बनाने की मांग को लेकर शुक्रवार को भी अनशन जारी रहा। बाबूलाल शौर्य के बाद दो और अनशनकारी इस मुहीम में शामिल हो गया है। इनके अलावे हजारो तटबंध के अंदर के लोग भी साथ अनशन पर बैठे है। अनशन पर बैठे बाबूलाल शौर्य की अब हालात बिगड़ने लगा है। हलाकि सलखुआ पीएचसी के प्रभारी अनशनकारी की नियमत चेकअप करते है।

एसडीओ, डीएसपी सहित कई अधिकारी पहुचे स्थल पर

19 फ़रवरी से अनशन पर बैठे बाबूलाल शौर्य को समझने सिमरी एसडीओ सुमन प्रसाद साह, डीएसपी अजय नारायण यादव, सलखुआ बीडीओ बिभेष आनंद, सीओ संजय कुमार महतो के अलावा कई पदाधिकरी पहुचे। एसडीओ एवं डीएसपी ने लाख समझने का प्रयास किया। लेकिन श्री शौर्य एक ही बात पर अड़े रहे की जबतक मेरी मांग पूरी नहीं होगी तब तक अनशन जारी रहेगी।

जबतक शारीर में जान है अनशन जारी रहेगा

अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता बाबूलाल शौर्य ने कहा कि जबतक हालोगों की मांग नहीं मानी जायेगी तबतक अनशन नहीं तोड़ेंगे। मूलतः खगरिया जिले के परवत्ता प्रखंड के रहने वाले श्री शौर्य पूर्व में भी कई अनशन कर चुके है। लोगो की माने तो जेल में भी अनशन कर चुका है।

19 फ़रवरी से प्रारंभ है आमरण अनशन

19 फरवरी से डेंगराही घाट पर महासेतु निर्माण और फरकिया के विकास के लिए बाबूलाल शौर्य के नेतृत्व में आमरण अनशन शुरू किया गया था। अनशन के समर्थन में काफी संख्या में लोग जुट रहे हैं। लेकिन इस दिशा में ठोस पहल नहीं होने के बाद ग्रामीणों में गुस्सा है। समाजसेवी केपी शर्मा ने कहा कि फरकिया में विकास के नाम पर आज तक कुछ भी नहीं हुआ। डेंगराही में महासेतु निर्माण की मांग वर्षों से फरकियावासी कर रहे हैं। जिसके बाद सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ता बाबूलाल शौर्य के नेतृत्व में पुल सड़क निर्माण संघर्ष मोर्चा के कैलाश पासवान और जन संघर्ष अभियान के सुभाषचंद्र जोशी के संयुक्त तत्वाधान में अनिश्चितकालीन आमरण अनशन किया जा रहा है। अनशन पर बाबू लाल शौर्य, नागेश्वर चौधरी, जगदीश प्रसाद ¨सह एवं रमण कुमार हैं।

पढ़े :   बिहार में यहां बनेगी 20 एकड़ में फिल्म सिटी, 2-3 माह में शुरू हो जायेगा काम

केंद्र को अवगत कराएंगे

सासंद चौधरी महबूब अली केसर ने बाबूलाल शौर्य की अनशन का समर्थन जरते हे जहा की इनकी समस्या को राज्य सरकार एवम केन्द्र सरकार को अवगत कराएंगे। सासंद ने बताया कि इनलोगो की पूल की मांग वर्षो पुरानी है। राज्य सरकार को आगे आना चाहिए।  खगड़िया के सांसद महबूब अली कैसर ने पत्र के माध्यम से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को स्थिति से अवगत कराया है। उन्होंने खगड़िया जिले के सोनमंखी होते हुए सर्वजीता तक सड़क, सुगर कोलघाट पर पुल सहित डेंगारही घाट पर सड़क पुल के निर्माण की मांग किया है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!