​फिल्मों की शूटिंग के लिये फिल्मकारों की पहली पसंद बना राजनगर का राज पैलेस 

राजनगर(मधुबनी):  बिहार के मिथिलांचल क्षेत्र के हृदयस्थली कहे जानेवाले मधुबनी जिला मुख्यालय से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित राजनगर का राज परिसर फिल्मकारों के लिये पहली पसंद बनती जा रही है। आये दिन यहाँ बहुत सारे फिल्मों के गाना एवं एलबम के लिये शूटिंग होती रहती है। इसी क्रम में आजकल यहाँ  के के मेलोडी म्यूजिक कंपनी एवं ए वन पिक्चर के बैनर तले भोजपूरी फिल्म खिलाड़ी भैया की शूटिंग जोड़ – शोर से चल रही है । जिसे देखने के लिये काफी संख्या में खजौली , बासोपट्टी, राजनगर, बाबूबरही एवं जयनगर सहित अन्य जगहों से लोग आते हैं । जिस कारण निर्माता – निर्देशक को भीड़ नियंत्रण करने के लिये स्थानीय प्रशासन का भी सहारा लेना पड़ता है।वहीँ राजनगर निवासी जय जय बिहार गाना फेम, गायक से नायक बने  फिल्म के मुख्य अभिनेता रोहन सिन्हा ने बताया  की यहाँ की राज पैलेस काफी ऐतिहासिक होते हुए आज भी अपने सौंदर्य के लिये प्रसिद्ध है। लेकिन बिहार के फिल्मकार ज्यादातर फिल्मो की शूटिंग बिहार से बाहर करते है। जबकि बिहार में शूटिंग करने के लिये जगहों की कमी नही है। फिल्मो के माध्यम से फिल्मकारों को चाहिये कि लोगो तक अपने क्षेत्र के ऐतिहासिक चीजो के बारे में जानकारी दे व दिखाए, जिससे लोग अपने अतीत व इतिहास को जान सके, समझ सके। वहीं फिल्म के निर्माता व निर्देशक ने राजनगर राज पैलेस की प्रशंसा करते हुये बताया कि  यहाँ का सेट फिल्म बनाने के लिये अनुकूल है। यहाँ हमलोगों को सेट लगाने के लिये ज्यादा परेशानी नहीँ होती है। मुम्बई , दिल्ली, गोवा या कोई और महानगरों में ऐसा सेट बनाने के लिये लाखो खर्च करने पड़ते हैं। फिर भी इतने कम समय में ऐसा सेट तैयार नहीँ हो पाता है।फिल्म के मुख्य कलाकार अभिनेता रोहन सिन्हा, अभिनेत्री भोजपुरी के लोकप्रिय गायिका निशा पाण्डेय, सिमा सिंह, रेयाज आजमी, राकेश रौनक सिंह व अन्य है। बता दे कि गायिका से नायिका बनी निशा पाण्डेय पहली बार फिल्म खिलाड़ी भैया से प्रदार्पण करने जा रही है। फिल्म के निर्माता/निर्देशक कन्हैया कुशवाहा, निर्मात्री अंकिता श्रीवास्तव, सह निर्माता राजीव राय, कार्यकारी निर्माता साई राह श्रीवास्तव व लेखक विनोद राय है। फिल्म के लिए कर्णप्रिय संगीत तैयार किये है भोजपुरी के प्रसिद्ध संगीतकार/गीतकार संतोष पूरी ने। छायांकन दिनेश आर पटेल, नृत्य निर्देशक विकाश, सिनेमाटोग्राफर रंजीत कुमार व प्रचारक अमित सोनी है।वहीँ ग्रामीणों ने बताया कि इसतरह के आयोजन से यहाँ रोजगार के अवसर एवं स्थानीय कलाकारों को काम करने का अच्छा अवसर मिलेगा। बताते चले कि राजनगर राज परिसर को पर्यटन स्थल बनाने की माँग हमेशा से स्थानीय निवासियों के द्वारा की जाती रही है , परंतु स्थानीय जनप्रतिनिधि के लचर रवैये के कारण ,राज पैलेस का उद्धार नहीँ हो सका है। आज तक ये ऐतिहासिक स्थल राजपरिसर अपने आप मे उपेक्षित महसूस कर रहा है। इस क्षेत्र से कई राजनेता बन विधानसभा से लोकसभा तक पहुंचे लेकिन किसी ने इसका उद्धार करना वाजिब नही समझा, और न ही कभी इसके लिये आवाज उठायी। जो बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है मिथिला क्षेत्र के लिए।रिपोर्ट: चंदन कुमार

Leave a Reply