कंप्यूटर से दोस्ती, स्मार्ट कैरियर की 100% गारंटी

मधुबनी(साहरघाट): आज के युग को यदि हम कंप्यूटर का युग कहें तो अतिशयोक्ति नहीं होगी। शिक्षा मनोरंजन, चिकित्सा, यातायात, संचार आदि सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर ने अपनी उपयोगिता सिद्ध की है। शिक्षा के क्षेत्र में कंप्यूटर अत्यंत उपयोगी सिद्ध हो रहे हैं। विद्‌यालयों में धीरे-धीरे कंप्यूटर विषय अनिवार्य हो रहा है। छोटे शहरों एवं महानगरों में कंप्यूटर की शिक्षा प्रदान करने वाले स्कूलों, शिक्षण संस्थानों आदि की बढ़ती संख्या कंप्यूटर की लोकप्रियता का साक्षात प्रमाण है। कंप्यूटर के माध्यम से पठन-पाठन का स्तर भी अच्छा हुआ है। आजकल अनेक ऐसे विद्‌यालय खोले जा रहे हैं जहाँ इंटरनेट के माध्यम से व्यक्ति घर बैठे ज्ञान प्राप्त कर सकता है। प्रबंधन, कानून व रिसर्च में संलग्न विद्‌यार्थियों के लिए कंप्यूटर एक वरदान सिद्ध हो रहा है। पुस्तकों के प्रकाशन में भी कंप्यूटरों की अनिवार्य भूमिका हो गई है। कार्यालयों में कंप्यूटर के माध्यम से कार्य करना अत्यंत सहज एवं सरल हो गया है। अब कार्यालय संबंधी सभी महत्वपूर्ण आंकडों व तथ्यों को ‘फाइल’ में सुरक्षित रखा जाता है जिससे समय की काफी बचत होती है। अनेक कार्य जिनमें कई व्यक्तियों की आवश्यकता होती थी अब वही कार्य एक कंप्यूटर के माध्यम से बहुत कम समय में ही संपन्न हो जाता है। यही कारण है कि अब प्रत्येक सरकारी तथा गैर-सरकारी कार्यालयों में कंप्यूटर का उपयोग अनिवार्य हो गया है। उक्त बातें एमजीएम महाविद्यालय के प्रांगण में कॉलेज ऑफ कंप्यूटर साइंस द्वारा आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में वक्ताओं ने कही।
कार्यक्रम की शुरुआत संस्था के मैनेजिंग डायरेक्टर आलोक झा, एमजीएम सेकेंड्री के निदेशक विनोद कुमार, राम कृष्ण सेकेंड्री के निदेशक बैधनाथ प्रसाद, माइंड ब्लोइंग कॉमर्स क्लासेज के निदेशक आई डी के निराला, ज्ञान गंगा कोचिंग संस्थान के निदेशक मधुसूदन मंडल, माँ शारदे कोचिंग बेनीपट्टी के निदेशक मनोज कुमार, के वाई सी अकादमी के पंकज झा, इंग्लिश क्लासेज के एन कुमार व कॉलेज ऑफ कंप्यूटर साइंस के निदेशक दीपक कुमार ने संयुक्त रूप से दिप प्रज्वलित कर किया। इसके बाद चंदन कुमार ने मंगलमय दिन आज हे, प्रियंका कुमारी ने सब सखी मिल के स्वागत करै छि व शिवानी कुमारी ने स्वागतम स्वागतम गीत गाकर कार्यक्रम में चार चांद लगा दिया। वहीं कार्यक्रम में आये अतिथियों का स्वागत पाग, दुपट्टा व माला से किया गया। वक्ताओं ने अपनी अभिभाषण में कम्प्यूटर की महत्ता को बताते हुते बच्चों को जीवन मे सफल व्यक्तियों को मार्गदर्शक मान कर उनके किये गये कार्यों व रास्तों पर चलने को प्रेरित किया। बता दें कि आयोजित प्रतियोगिता परीक्षा में प्रथम स्थान लाने वाले गुड्डू कुमार को संस्था द्वारा 2100, आरके सेकेंड्री के बैधनाथ प्रसाद द्वारा 500 नगद पुरुस्कार व मैडल, द्वितीय स्थान लाने वाले अभिषेक कुमार भगत को 1500 रुपये नगद व मैडल, तृतीय स्थान लाने वाले शत्रुघ्न कुमार को 1100 रुपये नगद व मैडल देकर सम्मानित किया गया। साथ ही पंद्रह रैंक तक के सभी बच्चों को दो-दो सौ नगद व मैडल देकर सम्मानित किया गया। मंच संचालन सुरेश कुमार ने किया। मौके पर डॉ बी कुमार, राहुल कुमार, गुड्डू कुमार, रानी गुप्ता, जुली कुमारी, गुंजन, राकेश, पिंटू, रंजन, अविनाश, दुर्गानंद, आयुष, अर्चना, सुजीत, गौरी शंकर, पंकज सहित संस्था के बच्चे व अन्य लोग मौजूद थे।

पढ़े :   IIT पटना की छात्रा को 40 लाख का पैकेज, ...जानिए

Chandan Kumar

Student/Social Activist/Blogger/News Writer

Leave a Reply

error: Content is protected !!