मधुबनी: किसी जनप्रतिनिधि ने हरलाखी के विकास पर नहीं सोंचा : राघवेंद्र

मधुुुुबनी(हरलाखी): मिथिला स्टूडेंट यूनियन के हरलाखी प्रखंड कार्यालय पर प्रेस वार्ता करते हुए संगठन मंत्री राघवेंद्र रमण और उपाध्यक्ष शाहनवाज अहमद ने कहा कि राज्य और केंद्र में एनडीए की सरकार है। लोकसभा और विधानसभा में भी इनके पार्टी के नेताओं का होने के बाद भी हरलाखी विधानसभा क्षेत्र आज सब से पिछड़ा हुआ है। जहां सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी रोड बनाने को विकास कहते है तो उन्हें हरलाखी विधानसभा क्षेत्र के रोड का दुर्दशा देखना चाहिए। वो चाहें बेनीपट्टी से उमगाँव को जोड़ने वाली हो या सीतामढ़ी से जयनगर को जोड़ने वाली एनएच 104 सड़क। पांच सालों में हरलाखी विधानसभा में एक अच्छे रोड भी नही बन पाया। इसी हरलाखी विधानसभा क्षेत्र में करहरा पंचायत है। जहां नदी के पार जा कर हजारों लोग अपने घर जाते है और उनका मुख्य मार्ग यही है। इस पुल के ना होने से दर्जनों गर्ववती मां को हॉस्पिटल से जाने के क्रम में नदी में बह गई। मिथिला स्टूडेंट यूनियन इनके माँगो को लेकर बेनीपट्टी मुख्यालय पर सैकड़ो ग्रमीणों के साथ प्रदर्शन किया था। उसके बाद भी मधुबनी के सांसद हुकुमदेव यादव व हरलाखी विधानसभा के विधायक सुधांशु शेखर इस मुद्दों को कभी नहीं उठाया और न ही सरकार के द्वारा कोई पहल किया गया। आज लोकसभा चुनाव होने वाला है। यहां के जनताओं के पास कोई ऑप्शन नही है कि किसे चुने अपना सांसद, जो इनकी बातों को लोकसभा में उठाये। वही शाहनवाज अहमद ने कहा कि हरलाखी विधानसभा जहां पर्यटन के क्षेत्र में युवाओं को रोजगार मिल सकता है पर ये सरकार यहां के स्थालों को पर्यटक स्थल में शामिल नही कर रहा है। जब सरकार बना था तो बोला गया रामायण सर्किट के तहत सभी पर्यटक स्थलों को जोड़ा जाएगा पर पांच साल बीत जाने के बाद भी कुछ न हो सका। यहां युवाओं को खेलने के लिए एक स्टेडियम नही है। जहां युवा खेल सके। यहां की शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो, सब का हाल बुरा है। यहां के प्रतिनिधि कोई पहल नही कर रहे तो यहां के युवा क्यों वोट करेगा? मौके पर अजय कुमार यादव, मनीष सिंह, राजन झा, दीपक कुमार मौजूद थे।

पढ़े :   स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने मेडिकल स्टूडेंट्स को सुनाई बांसुरी, नीचे डांस करती रही लड़कियां

Chandan Kumar

Student/Social Activist/Blogger/News Writer

Leave a Reply

error: Content is protected !!