समाज में अपने हक के लिए बेटियों को आगे आना होगा : बिट्टू

मधुबनी: हरलाखी प्रखंड मुख्यालय उमगांव स्थित दीनदयाल कोचिंग व कौशल विकास केंद्र परिसर में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की तर्ज पर संचालित जागरूकता अभियान संस्था गंगौर द्वारा छात्राओं के बीच नारि सशक्तिकरण को ले जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। जिसकी अध्यक्षता विद्यालय के निदेशक रामहृदय महतो एवं समन्वयक राजकुमार मिश्रा ने किया। कार्यक्रम में बेटियों को अपनी रक्षा, आत्मनिर्भर, अपना अधिकार व कुरूतियों को जड़ से मिटाने को लेकर एकजुट होने को प्रेरित किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संस्था की संचालिका बिट्टू कुमारी मिश्रा ने कहा कि आज के इस बदलते आधुनिक दौर में भी हम बेटियां अपने आप को असुरक्षित महसूस करते है। जबकि तमाम जनप्रतिनिधि, सरकार व प्रशासन हमे सुरक्षित होने के दावे कर रही है। पर आज हम किस कदर असुरक्षित है, जो किसी से छुपा हुआ नहीं है। आज भी हमें इस समाज में बलि का बकरा बनाया जाता है। बेटों को पढ़ाने के लिए पैसे खर्च कर बड़े बड़े संस्थानों में एडमिशन कराया जाता है और जब बेटी की बात आती है तो बस गांव में ट्यूशन पढ़ेगी और शादी के बाद उसे ससुराल ही तो जाने की बात कहकर हमें पंगु बना दिया जाता है। जो इस देश व समाज के विकास में बहुत बड़ी बाधक है। इसलिये इस जंजीर से आजाद होने के लिये हम बेटियों को ही आगे आना होगा और अपने अधिकार व हक के लिये लड़ाई लड़नी होगी।

बिट्टू ने यह भी कहा कि हम अपने संस्था के माध्यम से बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण के साथ साथ उनमे हिम्मत भी बढ़ाने का काम करेंगे। वही अध्यक्षता कर रहे निदेशक रामहृदय महतो ने कहा कि आज अगर महिलायें चाहे तो देश व समाज में बड़ी से बड़ी क्रांति ला सकती है। इसलिए आप बेटियों को अपनी सुरक्षा व अपने हक अधिकार के लिए आगे आना चाहिए और सरकार, प्रशासन के पास अपनी आवाज़ बुलंद करें। निश्चित ही आपकी बात को सुना जाएगा। मौके पर संस्था की सदस्य रानी कुमारी, शिक्षक शिवशेखर महतो, केवाईपी के प्रशिक्षक विजय कुमार यादव, अजीम अहमद, विभा, कोमल, अमृता, रूपा, बबिता, अनामिका, अस्मिता, आरती, ज्योति, ज्योति प्रिया व ज्योति कुमारी समेत अन्य छात्राएं भी मौजूद थी।

पढ़े :   बिहार के इस मंदिर में भगवान विष्णु के चरण के होते हैं साक्षात दर्शन, ...जानिए

Chandan Kumar

Student/Social Activist/Blogger/News Writer

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!