बजट में बिहार को मिली कई नयी रेल परियोजनाओं की सौगात, …जानिए

संसद में गुरुवार को पेश बजट 2018-19 में बिहार को कई नयी रेल परियोजनाओं की सौगात मिली है। इनमें दो नयी रेललाइनों का निर्माण, दो रूट पर गेज परिवर्तन, दो रेललाइनों का दोहरीकरण और 11 रेलखंडों पर 773 किमी रेललाइनों का विद्युतीकरण शामिल है। इन सभी प्रोजेक्टों के पूरा होने के बाद बिहार में रेल यातायात में सुधार होगा और आर्थिक समृद्धि में मदद मिलेगी।

02 नयी रेललाइनें
बथनाहा-नेपाल कस्टम यार्ड
08 किमी
बिहारशरीफ-बरबीघा
25.8 किमी

गेज परिवर्तन
-जयनगर-जनकपुर-कुरथा (34 किमी)
-झंझारपुर-घोघरडीहा (20 किमी)

दोहरीकरण
-लखीसराय-करोटा-पटनेर-शेखपुरा
25.32 किमी
-मोहिनुद्दीननगर-बछवारा
19.95 किमी

11 रेलखंडों का विद्युतीकरण
1. वारिसलीगंज-तिलैया (35 किमी)
2. मुजफ्फरपुर-पीपरा-चनपटिया (144 किमी)
3. बिहारशरीफ-दनियावां (38 किमी)
4. फतुहा-इस्लामपुर (43 किमी)
5. आरा-विक्रमगंज (57 किमी)
6. समस्तीपुर-नयानगर (40 किमी)
7. गिरिडीह-दुरैतनगर (52 किमी)
8. रक्सौल-बैरगनिया (53 किमी)
9. मानसी-सहरसा-दउरा-मधेपुरा (63 किमी)
10. किऊल-पाटम-पिपेंटी (152 किमी)
11. गोरखपुर-कप्तानगंज-वाल्मीकिनगर (96 किमी)

इसके अलावा रेल सुरक्षा के लिए Rs 73,065 करोड़ का प्रावधान है। 25 हजार आबादी वाले स्टेशनों पर सीसीटीवी, वाई-फाई और स्वचालित सीढ़ियां लगेंगी। 600 स्टेशन विश्वस्तरीय बनेंगे। स्टेशनों पर पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मोड पर मॉल व होटल तैयार किया जायेगा।

ट्रेनों में वाई-फाई हॉट स्पॉट व सीसीटीवी इंस्टॉल किया जायेगा। वाई-फाई की स्पीड 4जी की होगी, ताकि रेल यात्री को ट्रेनों से संबंधित जानकारी लेने के साथ-साथ मनोरंजन भी कर सकें।

पढ़े :   लोकसभा में कागज फेंकने पर स्पीकर ने रंजीत रंजन समेत 6 सांसदों को किया सस्पेंड, ...जानिए

Leave a Reply

error: Content is protected !!