मतदान में युवा वोटर ले बढ़चढ़ कर ले हिस्सा : नागवंशी

चाणक्य पॉलिसी फाउंडेशन के युवाओं ने राजनीती में युवावर्ग की भागीदारी पर किया चर्चा, मतदान को ले युवा वोटरों से अपील 

मधुबनी(मधवापुर): भारत की राजनीति में आज वृद्ध लोगों का ही बोलबाला है और चंद गिने-चुने युवा ही राजनीति में है। इसका एक कारण यह है कि भारत में राजनीति का माहौल दिन-ब-दिन बिगड़ रहा है और सच्चे राजनीतिक लोगों की जगह सत्तालोलुप और धन के लालची लोगो ने ले ली है। इस लोकसभा चुनाव में युवाओं की भागीदारी को किसी पार्टी ने अहम नहीं समझा और युवा को दूर रखा है। जिससे युवावर्ग आहत है। उक्त बातें साहरघाट के रामजानकी चौक पर प्रेस वार्ता के दौरान चाणक्य पॉलिसी फाउंडेशन के मिथिला चैप्टर के अध्यक्ष विक्रम भगत नागवंशी ने कही। उन्होंने यह भी कहा कि राजनीति में देश प्रेम की भावना की जगह परिवारवाद, जातिवाद और संप्रदाय ने ले ली है। आए दिन जिस तरह से नेताओं के भ्रष्टाचार के किस्से बाहर आ रहे है। जिससे देश के युवा वर्ग में राजनीति के प्रति उदासीनता बढ़ती जा रही है। अब भारत की राजनीति में सुभाषचन्द्र बोस, शहीद भगतसिंह, चंद्रशेखर आजाद, लोकमान्य तिलक जैसे युवा नेता आज नहीं है। जो अपने होश और जोश से युवा वर्ग के मन में एक नयी क्रांति का संचार कर सके। लेकिन अफसोस आजादी के बाद नसीब में है यह बूढ़े नेता जो खुद की हिफाजत ठीक से नहीं कर सकते तो युवा को क्या देशभक्ति या क्रांति की बातें सिखाएंगे? जिसको लेकर हमलोग युवा संसद व ग्रामीण संसद का आयोजन कर युवाओं को राजनीती के प्रति जागरूक करने का प्रयास कर रहे है। वहीं संगठन प्रभारी चंदन कुमार ने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में हम युवा वोटरों को आगे आकर बढ़चढ़ कर मतदान किये जाने की आवश्यकता है। आप सभी युवा एकजुटता दिखाकर युवा के हीत में सोंचने वाले उम्मीदवार के पक्ष में मतदान करें। मतदान केंद्र पर पहुंच कर वोट की ताकत दिखाए। ताकि अगली सरकार व विभिन्न पार्टियां युवाओं को राजनीती में अधिक भागीदारी देने पर विचार करे। मौके पर संगठन प्रभारी चंदन कुमार, गुंजन कुमार, रोहित झा, पप्पू गोयल, सुनील मुखिया, महेश पासवान समेत अन्य संगठन के युवा मौजूद थे।

पढ़े :   मैट्रिक परीक्षा-2018 का नया पेपर पैटर्न वेबसाइट पर, कुछ ऐसा है बदलाव जानिये

Leave a Reply