खुशखबरी: SBI ने ग्राहकों को दी सौगात, खत्‍म किया ये बड़ा शुल्क

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को तोहफा दिया है। एसबीआई ने छोटे डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस (इमिजिएट पेमेंट सर्विस) ट्रांसफर पर शुल्क समाप्त कर दिया है।

अब ग्राहकों को 1,000 रुपए तक के आईएमपीएस ट्रांजेक्शन पर किसी तरह का चार्ज नहीं चुकाना पड़ेगा। इससे पहले 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस लेनदेन पर देय सेवाकर के साथ स्टेट बैंक प्रति लेनदेन 5 रुपये का शुल्क वसूल रहा था।

उल्लेखनीय है कि आईएमपीएस एक त्वरित अंतरबैंकिंग इलेक्ट्रॉनिक कोष हस्तांतरण सेवा है। इसका उपयोग मोबाइल फोन और इंटरनेट बैंकिंग दोनों माध्यम से किया जा सकता है।

बैंक ने कहा, “छोटे लेनदेन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उसने 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस हस्तांतरण पर शुल्क माफ कर दिया है।” अब 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस हस्तांतरण पर शुल्क माफ होगा जबकि 1,000 – 1,00,000 रुपये के लेनदेन पर 5 रुपये और 1,00,000 – 2,00,000 रुपये पर 15 रुपये शुल्क देय होगा।

इससे पहले बीते हफ्ते एसबीआई ने 1 साल के लिए 1 करोड़ से कम राशि वाली फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरों को घटाकर 6.75 फीसद कर दिया था। यह दर 7 साल के निचले स्तर पर है। एसबीआई ने इस महीने की शुरुआत में 15 बेसिस प्वाइंट्स की कटौती की है।

एसबीआई के इस कदम के साथ ही यह ब्याज दर साल 2010 की स्थिति में आ गई है। इस समय तक स्टेट बैंक एक साल की फिक्स्ड डिपॉजिट पर 6.75 फीसद ब्याज दिया करते थे। जुलाई में की गई इस कटौती के बाद 1 साल से लेकर 455 दिनों के बीच की अवधि पर जमा राशि की दर 40 बेसिस प्वाइंट गिरकर 6.5 फीसद हो गई है।

पढ़े :   खुशखबरी! SBI ने इस सर्विस पर घटाया 80 फीसदी चार्ज

जीएसटी के बाद एसबीआई के ये नियम भी बदले
– 1 जुलाई से जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) देशभर में लागू हो जाने के बाद 15 फीसदी सेवा शुल्क के स्थान पर अब 18 फीसदी जीएसटी लगेगा।
– एसबीआई बैंक अपने बडी ऐप के इस्तेमाल से एटीएम से पैसे निकालने पर प्रति निकासी पर अब 25 रुपये से कुछ अधिक जीएसटी लगेगा।
– यदि आप एसबीआई बडी से अपने बैंक के सेविंग अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करते हैं तो आपको 3 फीसदी + जीएसटी चुकाने होंगे।
– ग्राहकों को नए चेक बुक के लिए 10 लीफ चेक बुक के लिए 30 रुपये, 25 लीफ के लिए 75 रुपये के अलावा 18 फीसदी जीएसटी और 50 लीफ के लिए 150 रुपये के साथ-साथ कर भुगतान करना होगा।
– एसबीआई ने कहा है कि नए एटीएम कार्ड पर शुल्क वसूला जाएगा। रुपे क्लासिक कार्ड नि:शुल्क जारी होंगे।

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- emadad.in | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!