बिहार बोर्ड: मैट्रिक-इंटर कंपार्टमेंटल परीक्षा का रिजल्ट जारी

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मैट्रिक व इंटर कंपार्टमेंटल परीक्षा का रिजल्ट गुरुवार को देर शाम जारी कर दिया गया। मैट्रिक में 27.59 प्रतिशत और इंटर में 40.43 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल रहे। मैट्रिक में एक लाख 61 हजार 645 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसमें 44 हजार 602 परीक्षार्थी सफल हुए। यानी करीब 72.18 प्रतिशत छात्र फेल हो गए हैं।

इंटर में 43 हजार दो अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी, जिसमें 17, 384 (40.43%) सफल हुए। वहीं, 24,004 परीक्षार्थी (55.82%) फेल हो गए।

मैट्रिक रिजल्ट

मैट्रिक कंपार्टमेंटल में कुल 97,895 लड़कियां शामिल हुईं, जिसमें 26 हजार 668 सफल रहीं। लड़कियों की सफलता का प्रतिशत 27.24 प्रतिशत रहा। 71,017 लड़कियां असफल रहीं। वहीं परीक्षा में 63,750 लड़के शामिल हुए, जिसमें 17,934 सफल रहे। इनकी सफलता का प्रतिशत 28.13 फीसदी रहा। कुल 45,670 छात्र असफल रहे। मैट्रिक में कदाचार में 25 परीक्षार्थियों को पकड़ा गया था। मैट्रिक की परीक्षा में 319 छात्रों का लंबित रखा गया है।

इंटर रिजल्ट

इंटर कंपार्टमेंटल में में 25,279 लड़कियां शामिल हुई थीं जिसमें 10,831 छात्राएं (42.85%) उत्तीर्ण हुईं, वहीं 13,526 छात्राएं असफल रहीं। परीक्षा में 17,723 लड़के शामिल हुए, जिसमें 6,553 छात्र (36.97%) उत्तीर्ण हुए। वहीं कुल 10,478 छात्र असफल रहे। इंटर कम्पार्टमेन्टल परीक्षा 2016 के दौरान कुल 31 परीक्षार्थियों को कदाचार के आरोप में निष्कासित कर दिया गया था। 822 परीक्षार्थियों का परिणाम लंबित रखा गया है।

इस परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों के उत्तर पुस्तिकाओं का आॅनलाइन मूल्यांकन किया गया।

गौर हाे कि पहली बार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की अोर से साॅफ्टवेयर आधारित सिस्टम से कंपार्टमेंटल परीक्षा ली गयी है। वार्षिक परीक्षा 2017 में सिस्टम से परीक्षा संपन्न करायी जायेगी। जानकारी के मुताबिक इसको लेकर पूरी तरीके से सिस्टम को ऑनलाइन कर दिया गया है।

पढ़े :   बीएसईबी ने जारी किया परीक्षा कैलेंडर, अगले साल फरवरी में ही होगी मैट्रिक-इंटर की परीक्षा

परीक्षा के लिए निबंधन से लेकर फार्म भरने व काॅपियों की मूल्यांकन कार्य भी ऑनलाइन किया जा रहा है। रजिस्ट्रेशन के समय ही सभी विद्यार्थियों का डाटा सर्वर पर अपलोड है। रोल नंबर के साथ रिजल्ट सॉफ्टवेयर पर अपलोड किया गया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!