CAT-2018 रिजल्ट : बिहार के लाल किशन को मिला 99.99 परसेंटाइल

कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) 2018 का रिजल्ट शनिवार को जारी कर दिया गया। इसमें 11 छात्रों ने 100 परसेंटाइल हासिल किया है। इनमें ज्यादातर इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी बैकग्राउंड से हैं। इनमें सात आइआइटी से बीटेक शामिल हैं।

100 परसेंटाइल लाने वालों में महाराष्ट्र के सात, पश्चिम बंगाल के दो और बिहार व कर्नाटक से एक-एक छात्र शामिल हैं। बिहार के मुजफ्फरपुर की गुलाबपट्टी पंचायत के आशापट्टी परसौनी निवासी चंद्रशेखर के पुत्र किशन कश्यप ने कैट में 99.99 परसेंटाइल हासिल किया है। आइआइटी दिल्ली से 2017 में मेकैनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक करने वाले किशन इस सफलता का श्रेय अपनी मेहनत व मां-पिता के आशीर्वाद को देते हैं। वह अभी बेंगलुरु में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब कर रहे हैं।

वह बताते हैं, जॉब भी कर रहा था और एग्जाम की तैयारी भी साथ ही चल रही थी। जॉब के बाद जब भी वक्त मिलता था, ज्यादा-से-ज्यादा मॉक टेस्ट देने की कोशिश करता था। वह कहते हैं, मेरी तमन्ना आइआइएम अहमदाबाद, बेंगलुरु या कोलकाता में नामांकन लेने की है। किशन के पिता चंद्रशेखर व्यवसाय से जुड़े हैं, जबकि मां सुनीता देवी गृहिणी हैं।

वहीं पटना के राजीवनगर के दो भाइयों ने उल्लेखनीय सफलता प्राप्त की है। रोड नं-14 के निवासी व हाजीपुर रेलवे जोनल ऑफिस में अधिकारी सलिल कुमार झा के दो पुत्रों सर्वज्ञ झा व देवज्ञ झा ने एक साथ सफलता हासिल करके परिवार को बड़ी खुशियां दी हैं।

बड़े बेटे सर्वज्ञ को जहां 99.3 परसेंटाइल मिला है, वहीं छोटे बेटे देवज्ञ ने 99.1 परसेंटाइल प्राप्त किया है। देवज्ञ कहते हैं, मैंने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से अपनी स्टडी को पूरा किया है, जबकि सर्वज्ञ अभी डीयू से लॉ कर रहे हैं।

पढ़े :   दिनदहाड़े अपराधियो ने गोली मारकर किया घायल

हम दोनों को जितना भी वक्त मिलता था, उतने में ही स्टडी को पूरा करते थे। वह कहते हैं, हमारी तमन्ना आइआइएम अहमदाबाद में नामांकन लेने की है। इसके अलावा एक्सएलआरआइ व आइआइएफटी में भी नामांकन ले सकते हैं।

इस बार की परीक्षा 25 नवंबर को भारतीय प्रबंध संस्थान (आईआईएम) कोलकाता ने आयोजित की थी। अभ्यर्थी कैट की वेबसाइट https://iimcat.ac.in पर नतीजे देख सकते हैं। नतीजे एसएमएस के माध्यम से अभ्यर्थियों को भी भेजे गए हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!