CBSE: नहीं होगा 10वीं कक्षा के गणित विषय का री-एग्जाम

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं की गणित परीक्षा दोबारा नहीं ली जाएगी। सीबीएसई ने इसका ऐलान कर दिया है। दोबारा परीक्षा नहीं लिए जाने का फैसला लगभग 17 लाख से ज्यादा छात्रों के लिए राहत की खबर लाया है।

शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने कहा, “प्राथमिक जांच के आधार पर और छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने दोबारा परीक्षा नहीं लेने का फैसला लिया है।” 10वीं की गणित परीक्षा 28 मार्च 2018 को आयोजित हुई थी। पेपर लीक्स की रिपोर्ट्स के बाद परीक्षा जांच का विषय बन गई थी और दोबारा आयोजन पर सीबीएसई को फैसला लेना था। इसस पहले 30 मार्च 2018 को सीबीएसई ने दोबारा आयोजित होने वाली परीक्षा की तारीख का ऐलान किया था।

शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने 30 मार्च को मीडिया को 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा 25 अप्रैल 2018 को आयोजित होने की घोषणा की थी। वहीं 10वीं की गणित परीक्षा की तारीख का ऐलान नहीं किया गया था। शिक्षा सचिव ने कहा था कि गणित की परीक्षा दोबारा ली जाएगी या नहीं, इसका फैसला पेपल लीक मामले की जांच पूरी होने के बाद ही लिया जाएगा। उन्होंने कहा था कि सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा के लिए ही 10वीं की गणित परीक्षा आयोजित होगी।

बहरहाल, 10वीं की गणित परीक्षा से अब असमंजस की स्थिति समाप्त हो चुकी है। छात्रों के लिए यह राहत की खबर है। पेपर लीक के बाद सीबीएसई ने अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा दोबार आयोजित कराने का फैसला लिया थ। दोबारा परीक्षा आयोजन में किसी तरह की चूक न हो इसके लिए सीबीएसई ने सभी एग्जामिनेश सेंटर्स पर मॉक ड्रिल भी शुरू की थी।

पढ़े :   उपराष्ट्रपति पद के लिए वेंकैया नायडू NDA के उम्मीदवार, विपक्ष के गोपालकृष्ण गांधी से होगा मुकाबला

मॉक ड्रिल के तहत परीक्षा केंद्रों को प्रश्न पत्र डाउनलोड करने और प्रिंट करने को कहा गया था। लगभग 4,453 परीक्षा केंद्रों पर 10वीं की और 4,138 परीक्षा केंद्रों पर 12वीं की परीक्षा आयोजित हो रही है। 10वीं बोर्ड की अंतिम परीक्षा 4 अप्रैल और 12वीं की 13 अप्रैल को होगी। वहीं रीएग्जाम 25 अप्रैल को होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!