ये बिहारी हैं रितिक के ‘काबिल’ के डॉन, शाहरूख के ‘रईस’ के पुलिस अफसर

बिहार मधुबनी के रहने वाले नरेंद्र झा की आज दो फिल्में रईस और काबिल रिलीज हो गई। रईस में नरेंद्र ने एक डॉन का कैरेक्टर प्ले किया है तो वहीं काबिल में वे एक पुलिस अफसर बने हैं। हालांकि नरेंद्र के अंदर एक्टिंग करने की तमन्ना बचपन से थी लेकिन पिता के कहने पर ही उन्होंने दिल्ली के श्रीराम सेंटर में एक्टिंग कोर्स में एडमिशन लिया था।

जानिए कौन हैं नरेंद्र झा
बिहार के मधुबनी जिले के कोईलक गांव में नरेंद्र को जन्म हुआ। यही से उन्होंने अपनी स्कूलिंग पूरी की। इसके बाद उन्होंने दरभंगा कॉलेज, पटना से ग्रैजुएशन और जेएनयू से पोस्ट ग्रैजुएशन किया। नरेंद्र बचपन से ही एक्टिंग करते थे। वे स्कूल और कॉलेज में स्टेज प्रोग्राम में पार्टिसिपेट करते थे।

जेएनयू में करते थे हिस्ट्री की पढ़ाई
नरेंद्र झा ने जब ग्रैजुएशन पूरा किया तो वे दिल्ली आ गए। यहां उन्होंने जेएनयू में एडमिशन लिया। यहां पढ़ाई के दौरान वे कभी सिविल सर्विस में जाने की सोचते थे तो कभी लैक्चरशिप के बारे में। इसी दौरान उनका एक्टिंग का शौक भी जारी रहा। इस दौरान उनके फ्रेंड्स उन्हें एक्टिंग और मॉडलिंग की सलाह देते थे।

फ्रेंड्स के इस सलाह को नरेंद्र ने सिरियसली लिया और एक दिन अपने पिता के पास पहुंचे। पिता से उन्होंने पूछा तो उनका जवाब था कि जो भी करना है पूरी मेहनत और तैयारी से करो।इसके बाद नरेंद्र ने दिल्ली के श्रीराम सेंटर में एक्टिंग कोर्स में एडमिशन ले लिया।

सेंसर बोर्ड की पूर्व CEO से की है शादी
नरेंद्र झा ने 11 मई, 2015 को सेंसर बोर्ड की पूर्व CEO पंकजा ठाकुर से शादी की है। नरेंद्र और पंकजा दोनों एक-दूसरे को दिल्ली में कॉलेज के दिनों से जानते थे।

पढ़े :   गौशाला के बाद अब जिम में कुछ इस तरह नजर आए तेज प्रताप यादव

दिल्ली में एक्टिंग का कोर्स करने के बाद नरेंद्र मुंबई पहुंचे। यहां नरेंद्र के एक कजिन रहते थे, जिनके पास वे ठहर गए। यहां कुछ महीने तो नरेंद्र ने शहर के माहौल को समझने में जुटे रहे। फिर एक दिन उन्हें मॉडलिंग के लिए ऑफर मिला। फिर नरेंद्र ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

मॉडलिंग से हुई थी करियर की शुरुआत
दिल्ली में एक्टिंग का कोर्स करने के बाद नरेंद्र मुंबई पहुंचे। यहां नरेंद्र के एक कजिन रहते थे, जिनके पास वे ठहर गए। यहां कुछ महीने तो नरेंद्र ने शहर के माहौल को समझने में जुटे रहे। फिर एक दिन उन्हें मॉडलिंग के लिए ऑफर मिला। फिर नरेंद्र ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। मॉडलिंग के बाद उन्हें टीवी सीरियल मिलने लगे और फिर फिल्में भी। उन्हें साल 1993 में दूरदर्शन पर काफी फेमस सीरियल शांति से पहला ब्रेक मिला। लेकिन असली पहचान नरेंद्र को टीवी सीरियल ‘रावण’ से मिली। नरेंद्र मोहनजोदाड़ो, हैदर, घायल वन्स अगेन, फोर्स-2 जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं।

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!