क्या आपको मालूम है: बिहार में उत्पादित बिजली से दौड़ रही हैं मुंबई की लाइफलाइन, …जानिए

मुंबई वाले को भले ही बिहार के लोग फूटी आंख नहीं सुहाते हों। लेकिन यह हकीकत है कि मुंबई के विकास में बिहार के लोगों का योगदान है। यह दावा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करते हैं, तो गलत नहीं है। क्योंकि बिहार में उत्पादित बिजली से ही मुंबई की लोकल ट्रेनें दौड़ रही हैं।

जी हाँ! दरसल मुंबई को बिजली देने का सिलसिला इस साल अगस्त महीने में शुरू हुआ। बिहार के नबीनगर में भारतीय रेल और एनटीपीसी के संयुक्त पॉवर प्लांट भारतीय रेल बिजली कम्पनी लिमिटेड से अगस्त में मुंबई में चलने वाली लोकल ट्रेनों को बिजली की आपूर्ति शुरू की गई।

इस प्लांट की 90 प्रतिशत बिजली पर रेलवे का अधिकार होता है और शेष दस प्रतिशत बिहार सरकार खरीदती है। फिलहाल इस पॉवर प्लांट से 500 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है। अगले साल नवंबर महीने तक दो और इकाइयों में जब उत्पादन शुरू होगा तब 500 मेगावाट और बिजली उपलब्ध होगी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस प्लांट की आधारशिला तब रखी थी जब वे रेल मंत्री थे। उस समय अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे। तब बिहार में बाढ़ में एक पावर प्लांट की आधारशिला रखी जा चुकी थी। रेलवे ने अपना पावर प्लांट लगाया ताकि राज्यों से ट्रेनों के परिचालन के लिए बिजली खरीदने के लिए निर्भरता खत्म हो जाए।

पढ़े :   'प्रभु' ने पूरा किया वादा, थावे-छपरा रूट में 19 साल बाद बड़ी लाइन पर दौड़ी 'प्रभु' की रेल

Leave a Reply

error: Content is protected !!