अंतरिक्ष में भारत का बजा डंका, …जानिए

इसरो ने अंतरिक्ष में अब तक की सबसे ऊंची उड़ान बुधवार को भरी। श्रीहरिकोटा के सतीश धवन लॉन्चिंग सेंटर से पीएसएलवी-सी 37 लॉन्च किया गया। 9 बजकर 28 मिनट पर 104 सैटेलाइट्स का प्रक्षेपण हुआ। 10: 02 मिनट पर इसरो की ओर से इस मिशन के कामयाब होने का ऐलान किया गया।

बता दें कि ये पहला मौका है जब एक साथ 104 सैटेलाइट का सफल लॉन्च किया गया है। वैसे अभी तक यह रिकार्ड रूस के नाम है, जो 2014 37 सैटेलाइट एक साथ भेजने में कामयाब रहा है में। इस लॉन्च में जो 101 छोटे सैटेलाइट्स हैं उनका वजन 664 किलो ग्राम था। इन्हें कुछ वैसे ही अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया जैसे स्कूल बस बच्चों को क्रम से अलग-अलग ठिकानों पर छोड़ती जाती हैं।

44.4 मीटर लंबे और 320 टन वजनी रॉकेट पीएसएलवी-एक्सएल ने सुबह 9.28 बजे आकाश को चीरते हुए उड़ान भरी। पृथ्वी अवलोकन उपग्रह काटरेसैट -2 सीरीज का वजन 714 किलोग्राम है। अन्य उपग्रहों में 101 नैनो उपग्रह हैं, जिनमें से इजरायल, कजाकस्तान, द नीदरलैंड्स, स्विट्जरलैंड व संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के एक-एक और अमेरिका के 96 तथा भारत के दो नैनो उपग्रह शामिल हैं। इन सभी उपग्रहों का कुल वजन लगभग 1,378 किलोग्राम है।

पढ़े :   किस प्रोडक्ट पर कितना टैक्स, जानिए- GST का रेट कार्ड

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!