अनूठा अभियान! स्कूल फीस के रूप में बच्चे देते हैं कचरा, …जानिए

बिहार के बोधगया के सेवा बिगहा गांव में संचालित पद्मपाणि स्कूल के बच्चे शिक्षण शुल्क के एवज में स्कूल में कचरे दिया करते हैं। स्कूल आने के समय बच्चे रास्ते में पड़े प्लास्टिक और अन्य कचरे को साथ रखे थैले में रख लेते हैं और उसे स्कूल परिसर के बाहर रखे डस्टबिन में डाल देते हैं। बच्चों के इस कदम से स्कूल के आसपास के करीब आठ गांवों में बगैर किसी शोर-शराबा के अनूठे तरीके का स्वच्छता अभियान जारी है।

स्कूल संचालक मनोरंजन प्रसाद समदर्शी ने बताया कि बच्चों से किसी तरह का शुल्क नहीं लिया जाता है। उन्हें यूनिफॉर्म के साथ-साथ पाठ्य सामग्री भी स्कूल प्रबंधन द्वारा नि:शुल्क मुहैया करायी जाती है। स्कूल में आसपास के आठ गांवों के करीब 250 बच्चे पढ़ाई करते हैं।

उन्होंने बताया कि स्वच्छता के प्रति बच्चों और बड़ों में जागरूकता को बढ़ावा देने को लेकर यह मुहिम शुरू की गयी है। जमा सूखे कचरे को रिसाइक्लिंग करनेवाले या कबाड़ी वालों के पास बेच दिया जाता है। पिछले कुछ महीनों में 60 किलो से ज्यादा कचरा बेचे जा चुके है। साथ ही, आसपास के गांवों में अनूठे तरीके के स्वच्छता अभियान का असर भी दिखने लगा है। इन स्कूली बच्चों को अच्छी शिक्षा के साथ-साथ प्रकृति के महत्व को भी सिखाया जाता है।

पढ़े :   बिहार के लाल शहीद जेपी निराला को गणतंत्र दिवस पर मिलेगा ‘अशोक चक्र’

Leave a Reply