जब विदेशी सांसद ने गाया भोजपुरी गाना, …देखें वीडियो

देश की राजधानी दिल्ली में आज मंगलवार से ‘प्रथम प्रवासी भारतीय सांसद सम्मेलन’ शुरू हो चुका है। इस सम्मेलन में मॉरिशस के सांसद ओरी गोकरण की खासी चर्चा हो रही है। वजह है उनके द्वारा गाया गया एक भोजपुरी गाना।

गाने के बोल हैं – “बलमा सुतेला सुखनिंदिया..जगलो नहीं जागे, जगलो नहीं जागे हे राम। घिर आईल कारी हो बदरिया, हमें तो डर लागे हो राम। उन्होंने आगे गाया – सासु-ननद बैरिनिया..कोठरिया से झांके, कोठरिया से झांके हो राम। उनके गाये इस भोजपुरी गाने का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। गोकरण के गाये इस गाने के वीडियो को आप नीचे देख सकते हैं।

हैरान रह गए लोग
ओरी गोकरण को इस तरह भोजपुरी गीत गाते देख वहां मौजूद लोग हैरान रह गए। हालांकि जिन्हें मॉरिशस का भोजपुरी कनेक्शन पता था, उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ। मालूम हो कि मॉरीशस की आधी आबादी भोजपुरी भाषी है। आधे मॉरिशस का बहुत गहरा बिहार कनेक्शन है।

गोकरण ने इस दौरान इंडिया को एक प्रगतिशील देश बताया है। उन्होंने बताया कि मॉरिशस की सरकार भोजपुरी भाषा को बढ़ावा देने के लिए कई कार्यक्रम चला रही है।

पीएम मोदी ने किया उद्घाटन
इससे पहले कार्यक्रम का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। कॉन्फ्रेंस में अपने संबोधन में पीएम ने एक तरफ जहां अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा की, वहीं उन्होंने भारतीय मूल्यों और आदर्शों का भी जिक्र किया।

उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में आने वाले निवेश में से आधा पिछले तीन वर्षों में आया है। पिछले वर्ष देश में रिकॉर्ड 16 अरब डालर का निवेश आया। यह सरकार की ओर से दूरगामी नीतिगत प्रभाव वाले निर्णयों के कारण आए हैं जो सुधार और बदलाव के मार्गदर्शक सिद्धांत पर आधारित हैं।

पढ़े :   बेनीपट्टी को ग्रीन व क्लीन बनाना हमारा उद्धेश्य : एसडीपीओ

प्रधानमंत्री मोदी ने दुनियाभर के प्रवासी भारतीय सांसदों से भारत की प्रगति में हिस्सेदार बनने और देश के आर्थिक विकास में उत्प्रेरक की भूमिका निभाने की अपील भी की।

पहली बार पार्लियामेंट्री कॉन्फ्रेंस
बताते चलें कि हर साल 9 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस मनाया जाता है। इसमें विदेशों में रह रहे प्रभावशाली NRI भारतीय दिल्ली में जुटते हैं। हालांकि इस बार केंद्र सरकार ने नई शुरुआत करते हुए प्रवासी भारतीय दिवस के दौरान ही पहली पार्लियामेंट्री कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया है। इसमें अलग-अलग देशों के एनआरआई सांसद पहुंचे हैं। इस दौरान विदेश में रह रहे भारतीय मूल के लोगों द्वारा अपने देश के लिए किए गए योगदान की चर्चा हुई।

Leave a Reply

error: Content is protected !!