खुशखबरी: मधेपुरा रेल कारखाने में 11 अक्टूबर से इंजन निर्माण होगा शुरू

बिहार के मधेपुरा रेल इंजन कारखाना में पहला इलेक्ट्रिक लोको (इंजन) निर्माण 11 अक्टूबर से शुरू होगा। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है।

इंजन बनाने के लिए जरूरी पार्ट्स फ्रांस से कोलकाता के रास्ते मधेपुरा कारखाना तक लाये जा रहे हैं। कई पार्ट्स फ्रांस से पहुंच गए हैं। तीन से चार दिनों के अंदर फ्रांस से कोलकाता आये इंजन के डब्बे को कवर करने वाला ढक्कन मधेपुरा पहुंच जाएगा।

इंजन तैयार करने का काम शुरू होने वाले दिन रेलवे बोर्ड दिल्ली के मेंबर ट्रैक्शन घनश्याम सिंह के मधेपुरा रेल कारखाना पहुंचने की संभावना है। कारखाना के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी ( सीएओ) खुशी राम, उप मुख्य अभियंता कृष्ण कुमार भार्गव सहित इंजन बनाने वाली फ्रांस के एलेस्ट्रॉम कंपनी के बड़े अधिकारी की मौजूदगी में इंजन बनाने की शुरुआत की जाएगी। कारखाना के सीएओ खुशी राम ने कहा कि 11 अक्टूबर से 12 हजार हॉर्स पावर का इलेक्ट्रिक इंजन तैयार करने के लिए पार्ट्स को जोड़ने की शुरुआत होगी।

डिप्टी चीफ इंजीनियर कृष्ण कुमार भार्गव ने कहा कि इंजन के पार्ट्स जोड़ने हेतु कारखाने के अंदर फिटिंग लाइन बनकर तैयार हो गया है। 275 एकड़ में फैले इस कारखाने में 12 साल में सबसे उच्च क्षमता वाले 12 हजार हॉर्स पावर के 800 इंजन तैयार किए जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि 2007-08 की इस महत्वपूर्ण परियोजना की लागत राशि 1293.57 करोड़ है। अगले साल फरवरी 2018 में पहला इंजन बनकर तैयार होगा। जिसे 28 फरवरी 2018 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रवाना करेंगे।

मधेपुरा रेल इंजन कारखाना से पहला इंजन तैयार होने के बाद उसी साल 4 इंजन, दूसरे साल 35, तीसरे साल 65 और चौथे साल 80 इंजन तैयार किए जाएंगे। पहले इंजन की लागत राशि 28 करोड़ निर्धारित गयी है। इसके बाद 24 या 25 करोड़ की दर से इंजन की लागत राशि आएगी।

पढ़े :   नीतीश कैबिनेट: 7वें वेतन आयोग समेत 20 एजेंडों पर लगी मुहर...

फरवरी 2018 तक कारखाने के वर्कशॉप, ट्रांसमिशन लाइन, ट्रैक बिछाने सहित ऑफिसर क्वार्टर बनाने का काम पूरा किया जाएगा। बचे सारे कार्य फरवरी 2019 तक दूसरे फेज में पूरे किए जाएंगे। कोसी क्षेत्र की यह रेलवे की सबसे महत्वपूर्ण परियोजना है। इसके धरातल पर उतर आने का कोसी क्षेत्र में विकास का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा। रोजगार के अवसर बढ़ जाएंगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!