कोरोना विस्फोट के बाद बिहार का ये शहर रहेगा तीन दिनों तक बंद

बिहार में कोरोना वायरस के कारण हालात अब बेकाबू दिखने लगे हैं। राज्य में इस महामारी से बीमार होने वाले और मरने वाले दोनों मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है, शायद यही वजह है कि मधुबनी जिला प्रशासन ने करीब एक महीने के अनलॉक के बाद एक बार फिर से पूरे मधुबनी शहर को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए तीन दिनों के लिए लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी तरह की दुकानें बंद रहेंगी।

यह फैसला डीएम डॉ. निलेश देवरे ने शहर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए लिया है। फैसले के तहत शहर में दूध, सब्जी, दवाई और किराना की दुकानें ही खुली रहेंगी। किसी भी तरह की सवारी गाड़ी के परिचालन पर पूर्णत: रोक रहेगी। एंबुलेंस और मालवाहक गाड़ियों को ही आने की इजाजत होगी। निजी गाड़ियां जो बाहर जाएंगी, उन्हें रामपट्टी होकर समिया ढाला होते हुए एनएच पर भेजा जाएगा।

मधुबनी के डीएम डॉ निलेश देवरे ने बताया कि शहर को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। तीन दिनों तक आवश्यक सेवा छोड़कर सभी तरह की गतिविधि बंद रहेंगी। फिलहाल स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। मैं लोगों से अपील करता हूं कि वो मास्क पहनें। बहुत जरूरी हो तभी घर से निकलें। अभी की सावधानी से ही हम कोरोना को हरा सकते हैं।

एसडीएम सुनील कुमार सिंह ने बताया कि शहर में बीते तीन दिनों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। लेकिन, प्रशासन ने एतियात के तौर पर यह फैसला लिया है, ताकि संक्रमण नहीं फैल पाए। शहर में प्रेवश के सभी रास्तों पर बैरिकेडिंग होगी। पुलिस के जवान और मैजिस्ट्रेट की तैनाती होगी। शहर में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। बिना मास्क पहने लोगों पर फाइन के साथ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी। शहर में देर शाम माइकिंग कर लोगों को जानकारी भी दी गयी।

कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 470 के पार
मधुबनी में पिछले कुछ दिनों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है। चिंता की बात ये है कि जिन लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है, उनमें से किसी भी मरीज में कोरोना के लक्षण नहीं थे लेकिन जांच में ये लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। आंकड़ों की बात करें तो मधुबनी में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 470 से अधिक हो चुकी है।

पढ़े :   देखें 20 लाख करोड़ के पैकेज में से खेती-किसानी को कितना मिला

हालांकि थोड़ी राहत की बात ये है कि कोविड केयर सेंटर में कोरोना को मात देकर अपने घर लौटने वालों की संख्या भी धीरे-धीरे बढ़ रही है, लेकिन पिछले कुछ दिनों में मधुबनी शहर के गिलेशन बाजार, लोहापट्टी, आरके कॉलेज रोड, सूरतगंज, जलधारी चौक, कीर्तन भवन रोड, भुआरा व पुलिस लाइन में करीब 20 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। गिलेशन बाजार में कोरोना मामले निकलने के बाद लोगों में दहशत है। मालूम हो कि यह मुख्य बाजार है। लोगों को डर सता रहा है कि हाल के दिनों में कई लोग इस बाजार में गए थे।

बफर जोन में भी लागू होंगे कैंटोनमेंट जोन के नियम
तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण को ब्रेक करने के लिए सरकारी स्तर पर तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। शनिवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बिहार के सभी जिले के डीएम व एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर ताजा हालात की जानकारी ली। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मधुबनी के डीएम डॉ. निलेश रामचंद्र देउरे ने कोविद 19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कैंटोनमेंट जोन में लागू होने वाले सभी नियमों को बफर जोन में भी सख्ती से लागू करने का सुझाव मुख्य सचिव को दिया जिस पर मुख्य सचिव ने फौरन अपनी सहमति जताते हुए अन्य जिलों में भी इस नियम को अपनाने का आदेश दिया है।

Leave a Reply