बिहार बोर्ड का नया फरमान: जूता-मोजा पहनकर नहीं आना है परीक्षा केंद्र, …जानिए

बिहार में बोर्ड की परीक्षा में नकल रोकने के लिये बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने अनोखा फैसला लिया है। प्रतियोगी परीक्षा की तर्ज पर अब मैट्रिक की परीक्षा में भी अभ्यर्थियों के जूता-मोजा पहनने पर रोक लगा दी गई है। जूता और मोजा के जगह चप्पल ही पहन कर आना होगा। यह आदेश बोर्ड के अध्‍यक्ष अानंद किशोर ने जारी किया है।

आनंद किशोर ने बताया कि परीक्षा में जूता और मोजा नहीं पहनने के सम्बंध में निर्देश बिहार राज्य में अयोजित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में दिया जाता रहा है, जिसे इस वर्ष से वार्षिक माध्यमिक परीक्षा में लागू करने का निर्णय लिया गया है। समिति द्वारा इस सम्बन्ध में सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी, केंद्राधीक्षक, परीक्षार्थी, अभिभावकों के लिए निर्देश जारी किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2018 का आयोजन राज्य के 1426 परीक्षा केंद्रों पर दो पालियों में दिनांक 21 से 28 फरवरी, 2018 के बीच किया जा रहा है। इसमें लगभग 17.70 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे।

पढ़े :   इस साल भी UPSC में बिहार के होनहारों का दबदबा, ...जानिए

Leave a Reply