बिहार: राज्यकर्मियों के महंगाई भत्ते में दो प्रतिशत की हुई बढ़ोतरी, …जानें

बिहार सरकार के सभी कर्मियों और पेंशनधारकों को अब दो फीसदी अधिक महंगाई भत्ता मिलेगा। गुरुवार को राज्य कैबिनेट की बैठक में महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी को मंजूरी दी गयी। इसका लाभ एक जनवरी 2018 के प्रभाव से दिया जायेगा।

जिन कर्मियों को सातवें वेतनमान का लाभ मिल रहा है, उनका महंगाई भत्ता पांच से बढ़ाकर सात फीसदी कर दिया गया है। इसी तरह निगम, पर्षद, बोर्ड समेत ऐसे अन्य संस्थानों के जिन कर्मियों को छठा या पहले के वेतनमान का ही लाभ मिल रहा है, उनका महंगाई भत्ता 139 से बढ़ाकर 142 प्रतिशत कर दिया गया है।

इसके अलावा पांचवें केंद्रीय वेतन आयोग की अनुशंसा के आधार पर जिन कर्मियों को वेतन मिल रहा है, उनका महंगाई भत्ता 268 से बढ़कर 274 प्रतिशत कर दिया गया है। इसके अलावा राज्य के मंत्रियों, उपमंत्रियों और ऐसी सुविधा प्राप्त सभी माननीयों के साथ कार्यरत बाहरी व्यक्ति को नियत वेतन के अलावा अन्य सुविधाएं देने की मंजूरी मिली है।

इसमें पटना नगर निगम क्षेत्र में तैनात व्यक्तियों के लिए मकान किराया भत्ता दिया जायेगा। इन लोगों को प्रतिमाह एक हजार रुपये चिकित्सा भत्ता के अलावा आप्त सचिव और निजी सहायक दोनों को 500-500 रुपये प्रत्येक महीने मोबाइल रिचार्ज के लिए दिये जायेंगे। ये सुविधाएं इन लोगों को आठ जनवरी, 2018 से सामान्य रूप से प्रभावी होंगी।

कैबिनेट के अन्य महत्वपूर्ण फैसले
– बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी लिमिटेड कंपनी के गठन की स्वीकृति। इसके लिए 1517 करोड़ रुपये मंजूर। इसमें राज्यांश के रूप में 488 करोड़ देने की मंजूरी।
– ग्रामीण कार्य विभाग में कनीय अभियंता के 850 पदों को संविदा पर होगी नियुक्ति।
– वैशाली जिले के गोरौल प्रखंड सह अंचल की दो पंचायतों कन्हौली धनराज और कन्हौली विशनपरसी महुआ प्रखंड सह अंचल में शामिल।
– डीजीपी ऑफिस में आंतरिक वित्तीय सलाहकार का पद।
– बिजली दर में सब्सिडी देने के लिए रुपये जारी करने की स्वीकृति।
– 2018-19 में बिजली के वितरण और संचरण में अनुमान से ज्यादा नुकसान की भरपाई के लिए 968.88 करोड़ मंजूर बिहार नगरपालिका अधिनियम, 2007 में पदसृजन की अनुमति।

पढ़े :   एक अप्रैल से न्यूनतम मजदूरी में होगी तीन फीसदी की बढ़ोतरी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!