बिहार राज्य महिला आयोग विधवा और एकल महिलाओं के लिए एप के जरिये खोजेगा जोड़ा, …जानिए

बिहार राज्य महिला आयोग अब समाज की विधवा और एकल महिलाओं का पुनर्विवाह करायेगा और इसके लिए आयोग राज्य भर की एकल महिलाओं और विधवाओं को एक मंच से जोड़ने की योजना बना रहा है।

इसके तहत आयोग एक एप बनाने की योजना बना रही है, इस एप से सभी महिलाओं को जोड़ा जायेगा और एप के जरिये उनकी शादी का प्रस्ताव भी तैयार होगा। उनके लिए रिश्ता भी खोजा जायेगा और उन पर हो रही हिंसा की रोकथाम भी की जाएगी।

अगले महीने तक तैयार होगा एप
अायोग की अोर से चलो-चलो पुनर्विवाह की बात करें एप तैयार करने की तैयारी की जा रही है। एप में जाकर महिला अपना नाम पता और उम्र के साथ एजुेकेशन और कांटेक्ट नंबर देकर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगी।साथ ही वैसे पुरुष, जो दूसरी शादी करना चाहते हैं, उस एप के जरिये अपना रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे। इससे दोनों की रिक्वायरमेंट पूरी की जा सकेगी।

सरकारी योजनाओं से जोड़ा जायेगा
वैसे लोग जो विधवा महिलाओं को अपनायेंगे। उनके लिए कुछ प्रोत्साहन राशि और विधवा महिलाओं के लिए चल रही योजनाओं को भी बढ़ावा दिया जायेगा। इसके लिए सबसे पहले एप के जरिये पूरे बिहार भर की विधवा महिलाओं की सूची तैयार की जायेगी। उसके बाद उसके विवाह के लिए सामाजिक कार्यकर्ताओं और सरकार की मदद ली जायेगी, ताकि समाज में उनकी दशा में बदलाव लाया जा सके।

हिंसा की होती हैं शिकार
आयोग की सदस्य उषा विद्यार्थी ने बताया कि समाज में अब भी विधवा महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है यहां तक की पति की मृत्यु के बाद उन्हें प्रॉपटी से भी अलग कर दिया जाता है। घरेलू हिंसा तक की शिकार होती है। उनके जीवन का विकल्प समाप्त हो जाता है। मायके वाले भी विधवा बेटियों को नहीं रखना चाहते हैं। ऐसे में आयोग अब उनके लिए एक ऐसा मंच तैयार करने जा रही है। जहां, उनके लिए रिश्ता भी खोजा जायेगा और हिंसा से रोकथाम भी किया जायेगा।

पढ़े :   वैज्ञानिक आइडिया में बिहार के सरकारी स्कूलों के बच्चे आगे, ...पढ़ें

Leave a Reply

error: Content is protected !!