बड़ा हादसा: पटना के एनआईटी घाट पर गंगा नदी में नाव टूट कर डूबी…

राजधानी पटना में शनिवार मकर संक्रांति के दिन बड़ा हादसा हुआ। इन्होंने प्रशासन के सुरक्षा को लेकर कैजुअल एप्रोच की पोल खोलकर रख दी है। मकर संक्रांति के अवसर पर दियारा में आयोजित पतंग महोत्सव में शामिल होने गए हजारों लाेग बोट का पाथ-वे धंस जाने के कारण वहां फंस गए। उन्हें ला रही एक नाव एनआइटी घाट पर डूब गई, जिसमें अभी तक 24 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है।

गंगा पार पतंगबाजी हो रही थी। इस वजह से भारी भीड़ थी। नाव पर भी कैपेसिटी से ज्यादा लोग सवार थे। किनारे से करीब 30 फीट की दूरी पर नाव टूट गई। भीड़ चीखती रह गई। लेकिन महज 20 सेकेंड में 24 लोगों की डूबने से मौत हो गई। कई लोग तैरकर बाहर भी आ गए।

मारे गए कुल 24 लोगों में 15 पुरुष, 4 महिलाएं और 6 बच्चे शामिल हैं। इनमें से 19 बिहार के ही निवासी हैं। मृतकों में 9 पटना जिले के रहने वाले हैं।

  1. भूलन प्रजापति- 28 साल, पिता राम प्रजापति, गांव दनौर, देवरिया, यूपी
  2. सोनू कुमार- 21 साल, पिता रामचंद्र प्रसाद, एकरासी, थाना- बगेन, बक्सर
  3. राजा कुमार- 30 साल- पिता- झपसी महतो, महेंद्रू, माता खुदी लेन, पटना
  4. विपुल कुमार- 21 साल, पिता आनंद प्रकाश, मीठापुर, बिहटा
  5. नेवू शाह- 35 साल, पिता- सिद्धेश्वर शाह, महेंद्रू, पटना
  6. रूपा देवी- 24 साल, पति विकास सिंह, बिहारी बिगहा, पंडारक
  7. शांति देवी- पति मखुरी राम, मैरवा, सीवान
  8. अर्पिता उर्फ फुदकी- 5 साल, पिता अशोक कामत, लहेरिया सराय, दरभंगा
  9. अनुष्का उर्फ लाडो, 6 साल, पिता बिनोद कुमार, महेंद्रू, पटना
  10. आदित्य राज- 2 साल, पिता चंदन कुमार, बैरिया, गोपालपुर, पटना
  11. ज्ञान शरण- 49 साल, पिता स्व. स्वामी नाथ, मुन्नाचक, पटना
  12. अभिषेक कुमार श्रीवास्तव, 22 साल, चौक शिकारपुर, पटना सिटी
  13. अभिषेक कुमार- पिता उपेंद्र पासवान, फतेहपुर, सोनबरसा, सीतामढ़ी
  14. आरती देवी- 30 साल, पति बिनोद कुमार, महेंद्रू , पटना
  15. सृजन कुमार- 17 साल, पिता छोटे लाल साह, गांव नड्डा, थाना भैरवगंज, प. चंपारण
  16. अनुरंजन कुमार उर्फ बिट्टू- 23 साल, पिता कुलवंश सिंह, रामपुर, थाना गोरारी, रोहतास
  17. मो. दिलशाद आलम- 19 साल, पिता मो. रईस, वीरनगर, थाना भरगावां , अररिया
  18. अंजली- चार साल, पिता अशोक कामत, लहेरिया सराय, दरभंगा
  19. प्रियनाथ मर्मू, पिता नूनू लाल मूर्मू, दुमका झारखंड
  20. प्रियांशू रंजन, पिता- प्रिय रंजन भूतनाथ रोड कंकड़बाग
  21. नैन्सी कुमारी
  22. नितेश कुमार, 28 साल
  23. धीरज कुमार, 22 साल, पिता रजीत सिंह, भभुआ
  24. नीरज कुमार, 10 साल, पिता कृपाल महतो
पढ़े :   खुशखबरी: दशहरा से पहले बिहार सरकार के कर्मचारियों को मिलेगा वेतन

घटना को देखते हुए चार दिनी पतंग महोत्सव को रद कर दिया गया है। सीएम नीतीश कुमार ने घटना की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं।

दोपहर बाद ही अराजक हो गया था माहौल
मकर संक्रांति के अवसर पर पटना के दियारा में पतंग महाेत्सव की परंपरा रही है। प्रशासन की ओर से इतने बड़े आयोजन को लेकर कोई तैयारी नहीं की गई थी। दोपहर से ही गंगा पार दियारा में माहौल अराजक हो गया था और पतंगबाजी के दौरान लाठीचार्ज की गई थी। सैकड़ों लोगों को पतंगोत्सव में आमंत्रित तो कर लिया गया लेकिन नाव की पर्याप्त व्यवस्था नहीं की गई। लोग पतंगोत्सव के बाद घर लौटना चाहते थे लेकिन नाव नहीं होने के कारण वे दियारा में फंसे थे।

लेकिन, इस बार वहां अव्यवस्था का आलम रहा। दियारा का बोट पाथ-वे धंस जाने के कारण वहां गए हजारों लाेग कड़ाके की ठंड में फंस गए। प्रशासन ने उन्हें निकालने की गंभीर कोशिश नहीं की। इस बीच लोग आवेरलोड नौकाओं में लौट रहे थें।

प्रशासन का दावा है कि उन्हें निकालने के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास जारी था। लेकिन, दिन ढ़लने के साथ ठंड बढ़ती जा रही थी, जिससे वहां फंसे सैकड़ों लोगों की परेशानी बढ़ गई थी। उनमें बच्चे-बूढ़े व महिलाएं भी शामिल थी।

इस बीच दियारा से लौटती एक नाव शनिवार देर शाम एनआइटी घाट के पास गंगा में डूब गई। प्रशासन ने पूरे घटनाक्रम को हल्के में लिया। पहले यह बताया गया कि छह लोग डूबे, जिन्हें बचा लिया गया। बाद में घटना की भयावहता सामने आई।

पढ़े :   ​पुल की मांग को लेकर विगत सात दिन से कोसी दियारा में हो रहा है आमरण अनशन

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!