बिहार ने ली शपथ: अब न कोई बेटी जलेगी, ना ही होगा बाल विवाह

सीएम नीतीश कुमार ने आज गांधी जयंती के अवसर पर कहा, जैसे बिहार ने शराबबंदी के खिलाफ शपथ ली वैसे ही हमें बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ भी एकजुट होना होगा, अब बिहार में नहीं कोई बेटी जलेगी और ना ही बाल विवाह होगा। सीएम नीतीश ने लोगों को दहेज वाली शादी में शामिल नहीं होने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि मुझे भरोसा है कि एक साल में बाल विवाह और दहेज प्रथा में काफी गिरावट आएगी। सीएम ने अगले साल 21 जनवरी को मानव श्रृंखला आयोजन करने की घोषणा भी की।

सीएम ने कहा कि बिहार के लोग राजनीतिक रुप से काफी जागरुक हैं और अब सामाजिक रुप से भी जागरुक होने की जरुरत है। दहेज प्रताड़ना में यूपी के बाद बिहार दूसरे स्थान पर है। बिहार में बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान का पूरे देश पर असर होगा। उन्होंने तमाम राजनीतिक पार्टियों से भी बाल विवाह और दहेज प्रता के खिलाफ मुहिम चलाने की अपील की।

सीएम ने कहा कि बापू के विचारों को जन जन तक पहुंचाएंगे। ये हमारा संकल्प है। बापू को सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम लोग उनके बताएं रास्ते पर चलें।

शराबबंदी की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बाद बिहार का माहौल बदल गया है। शराबबंदी को लेकर लोग हमारा मजाक उड़ाते थे लेकिन बदले हालात को देखकर वहीं लोग आज नजरे छुपाते फिर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज भी कुछ लोग शराब के धंधे में लगे हैं लेकिन उनपर सख्त नजर रखी जा रही है।

पढ़े :   पीएम मोदी का मुरीद का हुआ बिहार का ये पिछड़ा गांव, ...जानिए

इस मौके पर डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने सीएम नीतीश से आग्रह किया कि बाल विवाह और दहेज प्रथा के लिए गांव के मुखिया को जिम्मेदार ठहराया जाए। डिप्टी सीएम ने लोगों से अपील की कि आप लोग अगर तय कर लें कि दहेज ना लेंगे और देंगे तभी ये सामाजिक कुरीतियां खत्म होगी।

समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने कहा कि बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान सफल होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!