चुनावी साल में बिहार सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं को दिया बड़ा तोहफा, …जानिए

चुनावी साल में बिहार सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं को बड़ा तोहफा दिया है। बिहार विद्युत नियामक आयोग ने अगले वर्ष 2020-2021 के बिजली दरों का ऐलान कर दिया है। इसमें विद्युत कंपनियों द्वारा दिए गए प्रस्तावों को खारिज करते हुए दरों में कटौती करने का फैसला लिया गया है।

जिसमें बिहार के सभी तरह के विद्युत उपभोक्ता को 10 पैसे प्रति यूनिट कम शुल्क देना होगा। पहली बार बिहार विद्युत नियामक आयोग ने विद्युत दर में कटौती किया है। ये नई विद्युत दर 1 अप्रैल 2020 से लागू होगी।

इसके साथ मीटर पर लगने वाले रेंट को भी खत्म करने का निर्णय लिया गया है। फिक्सड चार्ज की वसूली तभी की जाएगी जब पूरे महीने औसतन प्रत्येक दिन 21 घंटे तक बिजली आपूर्ती की गई हो। यदि ऐसा नहीं होता है तो फिक्स चार्ज को कम किया जाएगा। नए कनेक्शन के लिए मीटर अनिवार्य कर दिया गया है।

बिजली चोरी रोकने के लिए भी बड़ा फैसला लिया गया है। अगर कोई फिक्स लोड से अधिक बिजली उपयोग करते पकड़ा जाता है तो उससे फिक्स चार्ज के साथ बिजली बिल दंडात्मक शुल्क के तौर पर वसूला जएगा। कृषि आधारित लघु उद्योग को फायदा पहुंचाने के लिए 33 केवी के लिए न्यून्तम डिमांड को 1000 केवीए से घटाकर 500 केवीए कर दिया जाएगा।

पढ़े :   सत्ता बदलते ही अफसरों को पटना मेट्रो पर काम शुरू करने का निर्देश, ...जानिए

Leave a Reply