बिहार के सब्जी उत्पादकों के लिए है बड़ी खुशखबरी, …जानिए

बिहार के सब्जी उत्पादकों के लिए बड़ी खुशखबरी है। दरसल राज्य में सब्जी उत्पादकों का काम्फेड की तर्ज पर फेडरेशन बनेगा। प्रखंड स्तर पर सहकारिता समिति, जिला स्तर पर यूनियन व राज्य स्तर पर फेडरेशन बनेगा। इसका मकसद होगा सब्जी की खेती करने वाले किसानों की आमदनी बढ़ाना। शुक्रवार को सहकारिता विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया।

बैठक के बाद मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि फेडरेशन के गठन पर जल्द कैबिनेट से मंजूरी ली जाएगी। फिर इसके गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इसके तहत प्रखंड स्तर पर समिति के लिए आधारभूत संरचना का विकास सरकार करेगी।

यहां पर सब्जियों की पैकेजिंग होगी, बाजार भी होगा। जो सब्जियां बचेंगी उन्हें जिला स्तर पर भेजा जाएगा। जिला स्तर पर सब्जी की प्रोसेसिंग की लिए यूनिट बैठेगी। सब्जियों की प्रोसेसिंग कर बिक्री के लिए विभिन्न जगहों पर भेजा जाएगा। सब्जी उत्पादकों का राज्य स्तर पर फेडरेशन होगा।

पैक्सों के लिए विद्युत आधारित चावल मिल
बैठक में यह भी सहमति बनी कि पैक्सों के लिए विद्युत आधारित चावल मिलें लगेंगी जिनकी क्षमता प्रति घंटे दो टन धान कुटाई की होगी। इस साल ऐसी 120 चवाल मिलें लगाई जाएंगी। पैक्सों को ड्रायर भी दिया जाएगा, ताकि धान सुखाया जा सके।

सीएम ने यह भी निर्देश दिया कि पैक्सों से सभी ग्रामीण परिवार को जोड़ें। वर्तमान में 1.16 करोड़ पैक्स सदस्य हैं। इनमें 36 लाख महिलाएं हैं। मुख्य सचिव ने कहा कि इस साल 18.42 लाख टन धान की खरीद हुई। सभी किसानों को पैसा भुगतान कर दिया गया है। किसानों का डाटा कंप्यूटर में फीड किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने सहकारिता बैंकों व सहकारी सोसायटियों का नियमित रूप से ऑडिट कराते रहने का भी निर्देश दिया है।

  • सूबे के सब्जी उत्पादकों की आमदनी बढ़ेगी
  • लोगों को गुणवत्तापूर्ण सब्जियां मिलेंगी
  • सब्जी उत्पादन से पैकेजिंग तक रोजगार बढ़ेंगे
  • धंधे के बिचौलियों की मनमानी पर रोक लगेगी
  • खेती व बिक्री का संगठित रूप विकसित होगा
पढ़े :   PM मोदी ने मान ली CM नीतीश की बात, कहा - अब 'बेनामी संपत्ति' की बारी

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!