पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का आज रविवार को 74 वर्ष की उम्र निधन हो गया है। दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्स) में उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन के बाद राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर है।

आपको बता दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जिसके बाद इलाज के लिए पटना एम्स में उन्हें भर्ती कराया गया था। कोरोना से जंग जीतने के बाद वह घर लौटे थे। परन्तु कुछ दिन बाद रघुवंश बाबू को पोस्ट कोविड मर्ज के बेहतर इलाज के लिए दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था। जहाँ डॉक्टरों की निगरानी में उनका इलाज कराया जा रहा था। परन्तु उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी।

आरजेडी से दिया था इस्तीफा
मालूम हो कि दिल्ली एम्स में भर्ती पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुरुवार 10 सितंबर को आरजेडी से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफे में उन्होंने आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को संबोधित करते हुए लिखा था कि जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद 32 वर्षों तक आपके पीछे-पीछे खड़ा रहा, लेकिन अब नहीं। पार्टी नेता, कार्यकर्ता और आमजनों ने बड़ा स्नेह दिया। मुझे क्षमा करें।

लालू यादव का संकटमोचक कहे जाते रघुवंश
रघुवंश प्रसाद सिंह साल 1977 से लगातार सियासत में रहे। वे लालू प्रसाद यादव के करीबी व उनके संकटमोचक माने जाते रहे। पार्टी में उन्‍हें दूसरा लालू भी माना जाता था। वे लगातार चार बार वैशाली से सांसद रहे। केंद्र की यूपीए की सरकार में मंत्री भी रहे। विपक्ष में रहते हुए वे अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार को घेरने में सबसे आगे रहे।

पढ़े :   बाइक की ठोकर से साईकिल सवार अधेड़ की मौत 

Leave a Reply