कोरोना वैक्सीन कल से किसे, कैसे और कितने में लगेगी, हर जानकारी लें यहां

स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन कर्मियों के बाद अब कल सोमवार 1 मार्च से आम लोगों को कोरोना का टीका लगने का काम शुरू हो जाएगा। बिहार में इस कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत 1600 टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन देने की तैयारी की गयी है। राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने बताया कि कोरोना टीकाकरण अभियान को लेकर धीरे-धीरे टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ायी जाएगी।

एक मार्च को 700 केंद्रों पर टीकाकरण कार्य शुरू होगा। इसके बाद 15 मार्च तक बढ़ाकर 1000 टीकाकरण केंद्र संचालित होंगे। वहीं, 16 से 31 मार्च तक 1200 टीकाकरण केंद्रों का, 01 से 15 अप्रैल तक 1500 केंद्रों का संचालन होगा। वहीं, 16 से 30 अप्रैल तक 1600 केंद्रों पर टीकाकरण कार्य किया जाएगा। जहां 60 साल से ऊपर का कोई भी व्यक्ति या फिर 45 साल से अधिक उम्र के वैसे लोग जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें वैक्सीन लगायी जायेगी।

बिहार में सबको मिलेगा मुफ्त कोरोना टीका
बिहार में सभी नागरिकों को कोरोना का टीका मुफ्त में मिलेगा। निजी या सरकारी किसी भी अस्पताल में टीका लेने पर कोई शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा। रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में तीसरे चरण के कोरोना टीकाकरण की तैयारियों की समीक्षा के क्रम में राज्य में नि:शुल्क टीकाकरण का निर्णय लिया गया। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय भी मौजूद थे। यह राज्य मंत्रिपरिषद द्वारा नवंबर, 2020 में राज्य में नि:शुल्क टीकाकरण कराए जाने के निर्णय के अंतर्गत फैसला लिया गया। निजी अस्पतालों में टीका लेने में लगने वाले शुल्क का भुगतान राज्य सरकार करेगी।

पढ़े :   खुशखबरी! बिहार के घरेलू बिजली उपभोक्ताओं का भी जुर्माना होगा माफ

कल सीएम नीतीश खुद लेंगे IGIMS में वैक्सीन की पहली डोज
इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना परिसर में सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, दोनों उप मुख्यमंत्री सहित अन्य पदाधिकारी भी कोरोना टीका का पहला डोज लेंगे। रविवार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार के कार्यालय परिसर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में इसकी जानकारी दी।

60 साल के लोगों को दिखाना होगा पहचान पत्र
60 से ऊपर के लोगों को केवल अपना पहचान पत्र दिखाना होगा जिससे उनकी उम्र कंफर्म हो जाएगी और टीका लग जाएगा।

गंभीर बीमारी वालों को देना होगा एक फॉर्म
जबकि 45-59 वर्ष के गंभीर बीमारी वाले लोगों को एक फॉर्म देना होगा। इस फॉर्म में रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर से ये प्रमाणित कराना होगा कि निम्नलिखित 20 गंभीर बीमारियों में से इस व्यक्ति को कम से कम कोई एक बीमारी है। सरकार ने जिन 20 बीमारियों को शामिल किया है, उनमें जन्मजात हृदय रोग जो धमनी उच्च रक्तचाप पैदा करते हैं, अंत-चरण गुर्दा रोग या कैंसर जैसे लिम्फोमा, ल्यूकेमिया और मायलोमा, विघटित यकृत सिरोसिस (लीवर का बिगड़ना), प्राथमिक प्रतिरक्षा की कमी की स्थिति, और सिकल सेल या खून की कमी जैसी दिक्कते शामिल हैं।

ऐसे कराएं अपना रजिस्ट्रेशन
वैक्सीनेशन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकता है। जिन्हें यह करवाने में समस्या होगी, वे सीधे सेंटर पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवा वैक्सीन ले सकते हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाने में कोविन पोर्टल या एप पर जाकर अपनी सुविधा के मुताबिक तिथि, समय, नजदीक का सेंटर का चयन कर सकते हैं। इसके लिए आधार और मोबाइल नंबर जरूरी होगा। एक मोबाइल नंबर से चार लोगों का रजिस्ट्रेशन अधिकतम करवाया जा सकता है। रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद किसी कारण से वैक्सीन लेने तय समय और तिथि को नहीं पहुंच पाये तो पुराने रजिस्ट्रेशन को कैंसिल कर नया रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

पढ़े :   कैंसर का है खतरा! मत खाइए ये मछली, ...जानिए