गांधी जी के बिहार आने और ठहरने की याद में बनेगा गांधी रिवॉल्विंग टावर और संग्रहालय, …जानिए

बिहार की राजधानी पटना में गांधी रिवॉल्विंग टावर और संग्रहालय बनेगा। यह गांधी जी के बिहार आने और यहा ठहरने की याद में एक स्मृति के रूप में होगा। टॉवर के पास गांधी जी से जुड़ी घटनाओं और उनके संदेशों को दर्शाया जाएगा।

यह टावर राजधानी पटना के बिहार विद्यापीठ भवन के परिसर में बनेगा। चंपारण सत्याग्रह यात्रा पर पहली बार बिहार आए महात्मा गांधी राजेंद्र प्रसाद के साथ विद्यापीठ भवन में हीं रुके थे।

मुख्यमंत्री ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि ऐसा नहीं कि सीधे टॉवर बनाया जाए बल्कि कुछ विशेष लुक भी देने का प्रयास किया जाए। गांधी टॉवर का डिजाइन ऐसा रहे कि वह शानदार लगे। टॉवर में लाइब्रेरी सहित अन्य कई सुविधाएं विकसित की जाएंगी।

इसके साथ हीं नीतीश कुमार ने विभाग की समीक्षा के दौरान कांवरयां सर्किट, सिख सर्किट, गांधी सर्किट, जैन सर्किट, बुद्ध सर्किट आदि को बेहतर बनाने और पर्यटकों के लिए विभिन्न तरह की सुविधाएं बहाल करने पर जोर दिया।

राजगीर की तर्ज पर बोधगया में भी एक बड़ा कन्वेंशन सेंटर बनेगा, ताकि बड़े पैमाने पर सम्मेलन के आयोजन में दिक्कत न आए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पर्यटन विभाग की समीक्षा के दौरान इसके निर्माण की प्रक्रिया जल्द शुरू करने का निर्देश दिया।

बैठक के बाद मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने कहा कि बोधगया में 100 करोड़ की लागत से कन्वेंशन सेंटर बनेगा। इसकी क्षमता दो हजार लोगों के बैठने की होगी।

राजगीर में वेणुवन तथा उससे सटे सर्किट हाउस तथा पुराने सैनिक स्कूल क्षेत्र में एक सुंदर लैंडस्केप बनाया जाएगा। बैठक में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार, कला संस्कृति मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा, पर्यटन सचिव पंकज कुमार आदि उपस्थित थे।

पढ़े :   गुरु गोविंद सिंह से जुड़ी विशेष बातें, ...जानिए

Leave a Reply

error: Content is protected !!