बिहार में यहाँ बनेगा हाईस्पीड ट्रेन कॉरिडोर, …जानिए

पथ निर्माण विभाग (बिहार) ने पटना-गया-राजगीर-पटना के बीच एक हाईस्पीड कॉरीडोर के निर्माण की योजना बनाई है। जापान की वित्तीय संस्थाओं के समक्ष टोक्यो में इस प्रोजेक्ट पर पहला प्रेजेेंटेशन होगा। बौद्ध सर्किट के पर्यटकों के लिए विशेष रूप से हाईस्पीड ट्रेन कॉरिडोर के प्रस्ताव को तैयार किया गया है। यह मुख्य रूप से हरियाणा के गुरुग्राम से पुरानी दिल्ली स्थित कश्मीरी गेट के बीच विकसित होने वाले हाईस्पीड ट्रेन कॉरिडोर की तर्ज पर है।

बुद्ध सर्किट का विशेष ख्याल
मेट्रो प्रोजेक्ट से अलग हाई स्पीड ट्रेन कॉरिडोर का कांसेप्ट कुछ हद तक मोनो रेल की परिकल्पना से भी जुड़ा है। यह ट्रेन कॉरिडोर खास तौर पर बौद्ध सर्किट के पर्यटकों को ध्यान में रखकर तैयार किया किया गया है। पटना से गया और फिर गया से राजगीर होते हुए पटना वापस आने को अलग ट्रैक विकसित किया जाएगा। पटना आने वाले पर्यटक अभी बोधगया और राजगीर की यात्रा सड़क या फिर रेल मार्ग से करते हैं। बौद्ध सर्किट के तहत वैशाली को छोड़ प्राय: सभी क्षेत्र को इस हाईस्पीड ट्रेन कॉरिडोर में शामिल करने की योजना है।

पटना एयरपोर्ट से गया एयरपोर्ट तक की कनेक्टिवटी
हाई स्पीड ट्रेन कॉरिडोर को इस तरह से डिजायन किया गया है कि पटना एयरपोर्ट से गया एयरपोर्ट को सीधी कनेक्टिवटी मिल जाए। हाई स्पीड कॉरिडोर के विकसित होने से यह सफर काफी कम समय का हो जाएगा। बोधगया से बौद्ध सर्किट की यात्रा करने आए पर्यटक राजगीर और नालंदा जाते हैैं। इन जगहों के लिए भी हाई स्पीड ट्रेन कॉरिडोर की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

पढ़े :   बिहार में विकसित होगा टेक्सटाइल पार्क, सिल्क भवन, लेदर क्लस्टर, ...और भी बहुत कुछ जानिए

वैशाली कॉरिडोर की योजनाओं के लिए भी इंतजाम
बौद्ध सर्किट में शामिल वैशाली के लिए वैशाली कॉरिडोर के लिए भी जापान की वित्तीय संस्थाओं से अर्थ की व्यवस्था की जानी है। बख्तियारपुर-ताजपुर पुल के आखिरी छोर से वैशाली कॉरिडोर को विकसित किया जाना है। इसके अतिरिक्त राजगीर से पटना भी एक नयी सड़क को विकसित किए जाने का प्रस्ताव है।

Leave a Reply