आज से ऑनलाइन बुकिंग: रेलवे ने जारी की एक जून से चलने वाली 200 ट्रेनों की लिस्ट

कोरोना संकट के बीच रेल यात्रियों को राहत मिलने के आसार हैं। लॉकडाउन के कारण थम चुकी देश की जीवनरेखा कही जाने वाली रेलवे धीरे-धीरे यात्री सेवाओं की बहाली की तरफ बढ़ रही है। श्रमिक स्पेशल और वातानुकूलित राजधानी स्पेशल ट्रेनें चलाने के बाद एक जून से 100 जोड़ी यात्री ट्रेनों की शुरुआत करेगा। इनकी लिस्ट बुधवार देर रात जारी कर दी गई। इनमें दुरंतो, संपर्क क्रांति, जन शताब्दी और पूर्वा एक्सप्रेस जैसी गाड़ियां शामिल हैं।

इन गाड़ियों में एसी और नॉन एसी के अलावा जनरल कोच भी होंगे। लेकिन जनरल कोच में बैठने के लिए भी रिजर्वेशन लेना होगा। यानी ट्रेन में कोई अनरिजर्व्ड कोच नहीं होगा। इन गाड़ियों में सीटों के लिए ऑनलाइन बुकिंग 21 मई यानी गुरुवार सुबह 10 बजे से आईआरसीटीसी की वेबसाइट और मोबाइल ऐप पर शुरू होगी। रिजर्वेशन काउंटर से कोई टिकट बुक नहीं होगा। इनके लिए एडवांस रिजर्वेशन पीरियड 30 दिन होगा, आरएसी और वेटिंग लिस्ट के नियम पहले की तरह होंगे।

सेकेंड क्लास का किराया देकर जनरल कोच में बैठना होगा
रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, 1 जून से चलने वालीं ट्रेनों का किराया सामान्य ही होगा, लेकिन जनरल कोच में सीट बुक करने के लिए भी सेकेंड क्लास का किराया देना होगा। रेलवे ने कहा है कि सभी यात्रियों को सीट मिलेगी यानी कोई वेटिंग नहीं होगी। यात्रियों की पहली लिस्ट ट्रेन खुलने के चार घंटे पहले और दूसरी लिस्ट ट्रेन खुलने के दो घंटे पहले तैयार होगी। कोई भी यात्री वेटिंग टिकट पर यात्रा नहीं कर पाएगा। किसी भी तरह से अनारक्षित टिकट नहीं मिलेगा और न ही तत्काल और प्रीमियम तत्काल टिकट की कोई व्यवस्था है।

पढ़े :   यहां श्रीलंकाई क्रिकेटर सनथ जयसूर्या दो बार में दो बार हुए कैच आउट

यात्रा के लिए गाइडलाइन
आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा।
सफर के दौरान सभी यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
यात्रियों को डेढ़ घंटे पहले स्टेशन पर पहुंचा होगा ताकि थर्मल स्क्रीनिंग हो सके।
बिना लक्षण वाले लोगों को ही यात्रा करने की इजादत दी जाएगी।
स्टेशन और ट्रेन दोनों के भीतर यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखना होगा।

ट्रेनों में कंबल नहीं मिलेंगे
ट्रेनों के एसी कोच में यात्रियों को कंबल की सुविधा नहीं मिलेगी। रेलवे ने यात्रियों को सलाह दी गई है कि वे खुद इसकी व्यवस्था करके आएं। एसी कोच के भीतर का तापमान इसके अनुसार तय किया जाएगा। अगर ट्रेन में पैंट्री कार मौजूद रहा तो पैक किए गए फूड आइटम और पानी की सुविधा होगी। इसके लिए यात्रियों को अलग से पेमेंट करना होगा।

स्टेशनों पर फूड प्लाजा खोलने की अनुमति मिली
रेलवे बोर्ड ने स्टेशनों पर खानपान, बिक्री इकाइयों को खोले जाने की अनुमति दे दी है, लेकिन साथ ही कहा है कि फूड प्लाजा, जलपान वस्तुओं को केवल लेकर जाने (टेक-अवे) की अनुमति होगी, वहां बैठकर खाने की कोई व्यवस्था नहीं की जाएगी। आदेश में कहा गया कि इन इकाइयों में पैक किया हुआ सामान, जरूरी सामान, दवाइयां आदि की दुकानें तथा बुक स्टॉल आदि शामिल हैं, जिन्हें देश में कोविड-19 के फैलने के तुरंत बाद बंद कर दिया गया था।

Leave a Reply